The news is by your side.

अयोध्या आने वाले श्रद्धालुओं को न हो कोई परेशानी

-रामनगरी अयोध्या के सुनियोजित विकास को लेकर मण्डलायुक्त ने की समीक्षा बैठक

अयोध्या। रामनगरी अयोध्या आने वाले पर्यटकों, श्रद्वालु एवं अन्य प्रान्तों से आने वाले पूज्य साधु संतों को किसी भी प्रकार की कोई परेशानी न हो एवं अयोध्या नगरी का ऐसा भव्य स्वरूप बने कि लोग जब यहां से लौटकर जाये तो अपने क्षेत्र के लोगों को अयोध्या की भव्यता को लेकर चर्चा करें। ऐसे सुनियोजित विकास के लिए मण्डलायुक्त/अध्यक्ष अयोध्या विकास प्राधिकरण गौरव दयाल ने जिलाधिकारी नितीश कुमार, नगर आयुक्त/उपाध्यक्ष विकास प्राधिकरण विशाल सिंह सहित विकास कार्यों के पर्यवेक्षण एवं सर्वेक्षण के लिए लगाये गये अधिकारियों एवं कार्यदायी संस्थाओं के साथ अयोध्या विकास प्राधिकरण के सभागार में समीक्षा की।

Advertisements

आयुक्त ने बैठक में कहा कि रामपथ, श्रीराम जन्मभूमि पथ, धर्मपथ तथा भक्ति पथ सहित बन रहे अन्य कोरिडोर में सजावटी स्मार्ट प्लांटेशन की डीपीआर 2 दिन के अंदर बनाने के लिए उपनिदेशक उद्यान को निर्देश दिया तथा कहा कि तुलसी उद्यान, राजघाट, कम्पनी गार्डेन सहित सभी पार्को में मौसम आधारित फूल के पौधों के साथ सदाबहार फूलों वाले प्लांटेशन करायें। उद्यानों में आकर्षण दिखने वाले वृक्षों को लगायें तथा रात्रि में उसकी खूबसूरती दिखें इसके लिए अच्छी लाइटिंग की व्यवस्था करायी जाय। बैठक में बाहर से आने वाले श्रद्वालुओं, पर्यटक एवं वृद्व व्यक्तियों जो हनुमानगढ़ी का दर्शन करना चाहते है और सीढ़ियों से दर्शन के लिए जाने में तकलीप महसूस करें उनके लिए लिफ्ट की व्यवस्था करायी जाय।

भविष्य में बड़ी संख्या में अयोध्या दर्शन हेतु पूरे भारत एवं विदेशों से श्रद्वालु व पर्यटक दर्शन करने के लिए आयेंगे। उनके गाड़ियों की पार्किंग के लिए हर रूट पर स्थायी एवं अस्थायी पार्किंग स्थल चिन्हित करें तथा प्रत्येक पार्किंग स्थल पर टू व्हीलर एवं फोर व्हीलर की कितनी गाड़ियां पार्क हो सकती है इसका भी आकलन कर लें जहां भी सरकारी भूमि हो और वह मास्टर प्लान में पार्किंग हेतु चिन्हित हो अथवा कोई प्राईवेट भूमि हो तो उसे भी भूस्वामी की सहमति से क्रय कर लिया जाय, ताकि भविष्य में आने वाले वर्षो में पार्किंग की कोई समस्या उत्पन्न हो तो ऐसी भूमि को मल्टीस्टोरी पार्किंग के रूप में विकसित किया जा सकें। इसके लिए उन्होंने उपजिलाधिकारी सदर विशाल कुमार, विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष सचिव एवं पुलिस विभाग से उपस्थित अधिकारियों को निर्देशित किया।

इसे भी पढ़े  किशोरी को बंधक बनाकर किया दुष्कर्म, आरोपी गिरफ्तार

मठ मंदिरों के अपग्रेडेशन का शासन को भेजा गया डीपीआर

-बैठक में बताया गया कि मठ मंदिरों के अपग्रेडेशन का डीपीआर शासन को भेज दिया गया है। अफीम कोठी के सौन्दर्यीकरण, रेलवे स्टेशन से राम पथ को जाने वाले मार्ग को न्याय पथ के रूप में विकसित करने साथ भरतकुण्ड के सौन्दर्यीकरण एवं उसके विकास का डीपीआर, गाऊघाट से राजघाट तक सरयू सुविधा संकुल बनाने का डीपीआर भी शासन को भेजा जा चुका है। आयुक्त ने रामपथ के आवासीय भवनों पर उनके भवन स्वामियों को सदाबहार लटकते लतादार फूलों के पौधों को लगाने के लिए प्रेरित करने का निर्देश नगर निगम एवं अयोध्या विकास प्राधिकरण के अधिकारियों को दियें।

उन्होंने कहा कि अयोध्या धाम के लिए एक शासकीय ऐप बनाने के लिए कमेटी गठन के निर्देश दिये, जिसमें अयोध्या धाम के सभी मठ मंदिरों, जन्मभूमि की तरफ हर शहर से जाने वाले मार्गों, पार्कों, समस्त जनसुविधाओं, होटल, धर्मशाला, गेस्ट हाउस, होम स्टे, टेन्ट सिटी आदि का सम्पूर्ण विवरण उपलब्ध हों, जिसमें जिले के वरिष्ठ प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारियों, थानों के सीयूजी आदि नम्बरों का भी उल्लेख हों, तैयार किये जाने के निर्देश दियें ताकि बाहर से आने वाले पर्यटकों को किसी भी प्रकार की असुविधा न हों। आयुक्त ने एडवेंचर्स स्पोर्ट्स क्लब व बोट क्लब की स्थापना हेतु स्थल चिन्हित करने हेतु जिलाधिकारी की अध्यक्षता में बैठक आयोजित कराने का निर्देश सचिव अयोध्या विकास प्राधिकरण को निर्देश दिये।

मठ-मंदिरों के सौन्दर्यीकरण के लिए बनायी गयी आठ सर्वेक्षण टीम

-मठ-मंदिरों के विकास एवं सौन्दर्यीकरण आदि के लिए 8 सर्वेक्षण टीमें बनायी गयी है जो ज्वाइंट मजिस्ट्रेट के0के0 सिंह के निर्देशन में कार्य कर रही है, ने अब तक कराये गये सर्वेक्षण कार्य का व्यौरा प्रस्तुत किया। आयुक्त ने अयोध्या के प्रमुख कोरिडोर एवं विभिन्न पथों पर प्रमुख स्थलों एवं चौराहों पर रामायणकाल से सम्बंधित राम चरित मानस के सभी पात्रों के मूर्ति जनसहयोग से लगाने का आहवान किया है। बैठक में जिलाधिकारी नितीश कुमार ने बताया कि अयोध्या आने वाले श्रद्वालु व पर्यटकों की सुविधा के लिए होटल के निर्माण कार्यो में तेजी लायी जाय, होटल निर्माण करने वाले संस्था को हर तरीकी की सुविधा प्रदान करें। उन्होंने आगे बताया कि प्रत्येक बृहस्पतिवार को अयोध्या विकास प्राधिकरण में होटल निर्माण हेतु मानचित्र स्वीकृत करने का दिन निर्धारित किया गया है।

इसे भी पढ़े  विवि परिसर के पाठ्यक्रमों को लेकर कुलपति ने की समीक्षा बैठक

जिलाधिकारी ने मानक के अनुसार होम स्टे सर्वेक्षण कार्य में तेजी लाने के निर्देश सम्बंधित अधिकारी को दिये। उन्होंने आगे कहा कि अयोध्या में बने नगर निगम या सुलभ शौचालय के जितने भी शौचालय बनें है वह निरन्तर चालू रहे इसकी योजना ऐसी बनायी जाय यदि कोई संस्था इस कार्य की जिम्मेदारी लें तो इसके लिए टेण्डर भी निकालें जाय। सभी शौचालयों के रोड पर साइन बोर्ड भी लगाया जाय ताकि बाहर से आने जाने वाले श्रद्वालुओं को यहां शौचालय है आसानी से पता चल सकें। बैठक में अयोध्या शहर के सौन्दर्यीकरण, गुप्तारघाट पर बन्धा वाटर फ्रन्ट, सुग्रीव पथ, अयोध्या के प्रवेश हेतु 06 द्वारों का डीपीआर, अयोध्या विकास प्राधिकरण के नवीन आवासीय योजना का डीपीआर आदि बिन्दुओं पर समीक्षा की गयी। बैठक में नगर आयुक्त विशाल सिंह, एडीएम प्रशासन अमित सिंह, सचिव अयोध्या विकास प्राधिकरण सत्येन्द्र सिंह, उपजिलाधिकारी सदर विशाल कुमार, ज्वाइंट मजिस्ट्रेट के0के0 सिंह, अपर नगर आयुक्त टाउन प्लानर सहित कार्यदायी संस्था के प्रतिनिधि उपस्थित थे।

 

Advertisements

Comments are closed.