The news is by your side.

प्रायोगिक परीक्षा के अंको को समय से विवि पोर्टल पर करना होगा अपलोड : प्रो. एस.एन. शुक्ल

परीक्षाओं की तैयारियों को लेकर कम्प्यूटर डाटा प्रोसेसिंग डेमो वर्कशाप का हुआ आयोजन

अयोध्या। डॉ. राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के स्वामी विवेकानन्द सभागार में विश्वविद्यालय के परीक्षा विभाग एवं महाविद्यालय विकास परिषद के संयुक्त संयोजन में वर्ष 2019 की मुख्य परीक्षाओं की तैयारियों को लेकर कम्प्यूटर डाटा प्रोसेसिंग डेमो वर्कशाप का आयोजन किया गया।
कार्यशाला की अध्यक्षता विश्वविद्यालय के प्रति कुलपति प्रो0 एस0 एन0 शुक्ल ने विश्वविद्यालय से सम्बद्ध महाविद्यालयों के प्राचार्यों एवं तकनीकी कम्पयूटर सहायकों को संबोधित करते हुए कहा कि वर्ष 2019 की मुख्य परीक्षा में डिजिटल प्रोसेसिंग के अन्तर्गत प्रायोगिक परीक्षाओं को सम्पन्न कराते हुए परीक्षा के तिथि के दिन ही प्रायोगिक परीक्षा के अंको को विश्वविद्यालय के ऑनलाइन पोर्टल पर अपलोड करना अनिवार्य होगा। परीक्षा व्यवस्था की शुचिता एवं पारदर्शिता के सम्बन्ध में विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो0 मनोज दीक्षित के आदेश के अनुक्रम में परीक्षा विभाग तथा महाविद्यालय विकास परिषद संयुक्त रूप से तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है। प्रो0 शुक्ल ने बताया कि इस वर्ष महाविद्यालयों के परीक्षा केन्द्रो पर विगत वर्ष की तरह सेंटर स्वैपिंग व्यवस्था लागू रहेगी। सभी परीक्षा कक्षों को सी0सी0टी0वी0 कैमरें से लैस किया जाना आवश्यक होगा। यू0आई0एन0 का प्रयोग विगत वर्ष काफी सफल रहा है। इसके उत्साहजनक परिणाम प्राप्त हुए है इसके लागू होने से कई जटिल प्रक्रियाओं को आसानी से पूर्ण किया जा सका है। प्रो0 शुक्ल ने कहा कि इस निर्धारित समयावधि में कार्य पूर्ण होने से सम्बद्ध महाविद्यालयों से जुड़े अधिकारियों से सकारात्मक संदेश विश्वविद्यालय को प्राप्त हुए है। कार्यशाला में प्रयोगात्मक प्ररीक्षा के अंको को अपलोडिंग करने के तकनीकी पक्षों की जानकारी लेने के लिए 15 मिनट की वीडियो की प्रस्तुति की गई।
कार्यशाला को संबोधित करते हुए परीक्षा नियंत्रक उमानाथ ने बताया कि आगामी 03 व 04 फरवरी, 2019 को अपरान्ह 12 बजे से विश्वविद्यालय से सम्बद्ध महाविद्यालयों के कम्पयूटर विशेषज्ञों को प्रशिक्षण हेतु संत कबीर सभागार में आंमत्रित किया गया है। इसके तहत दिनांक 03 फरवरी, 2019 को फैजाबाद, अम्बेडकरनगर, सुल्तानपुर एवं 04 फरवरी, 2019 को गोण्डा, बहराइच, बाराबंकी, अमेठी, बलरामपुर, प्रतापगढ़, श्रावस्ती सहित लखनऊ के मेडिकल, डेंटल एवं पैरामेडिकल के संस्थानों को विश्वविद्यालय तकनीकी विशेषज्ञों द्वारा प्रशिक्षित किया जायेगा। इस कार्यशाला में अकादमिक सुधार समिति के सदस्य ओम प्रकाश सिंह, मुख्य नियंता प्रो0 आर0एन0 राय, उपकुलसचिव डॉ0 विनय कुमार सिंह, हरिशंकर तिवारी, गणेश राय, प्रोग्रामर रवि मालवीय सहित अन्य परीक्षा से सम्बन्धित पदाधिकारियों की उपस्थित रही।

Advertisements
Advertisements

Comments are closed.