The news is by your side.

तमसो मा ज्योतिर्गमय का सन्देश देता है मकर संक्रांति का पर्व : डॉ. उपेन्द्रमणि

-मानस बस्ती ट्रांसपोर्टनगर में हुआ समरसता भोज का आयोजन

अयोध्या। मकर संक्रांति पर्व के अवसर पर पण्डित राधेश्याम पांडेय के संयोजन में ट्रांसपोर्टनगर की मानस बस्ती में समरसता भोज का आयोजन किया गया जिसमें नगर के साथ आस पास की बस्तियों के नागरिको ने सहभोज किया।सहभोज का शुभारम्भ कराते हुए नगर कार्यवाह डॉ उपेन्द्र मणि त्रिपाठी ने कहा भारतीय संस्कृति में जीवनशैली प्रकृति के अनुरूप स्वीकार की गई है जिससे हम शारीरिक मानसिक सामाजिक व आध्यात्मिक रूप से स्वस्थ रह सकते हैं।

Advertisements

उत्तरायण होते सूर्य की उपासना के पर्व मकर संक्रांति तमसो मा ज्योतिर्गमय का सन्देश देता है और इस समय तमाम अनाजों सब्जियों के मिश्रण से बना व्यंजन जिसे हम खिचड़ी कहते है मौसम के अनुकूल सुपाच्य स्वास्थ्यवर्धक तो है ही ,हमारी सामाजिक समरसता का सन्देश भी है कि समाज के सभी वर्ग अमीर गरीब जब एक साथ मिलकर राष्ट्रनिर्माण में अपनी सहभागिता करते हैं तो समूचा राष्ट्र प्रगतिशील हो जाता है। तिल गुड़ के लड्डू हृदय की पौष्टिकता के साथ एकता की मिठास, व आकाश में उड़ती पतंग व्यक्ति को अभिमानी होने से बचने का सन्देश देती है।

पण्डित राधेश्याम पांडेय, यमुना प्रसाद अवस्थी , पण्डित सत्येंद्र मणि त्रिपाठी,डॉ उपेन्द्र मणि त्रिपाठी, हरिमोहन पांडेय ने भगवान को भोग अर्पित कर सहभोज का शुभारंभ किया। इस अवसर पर यश, देवेंद्र, मुन्ना सिंह, शोभनाथ, जयेंद्र सिंह, प्रणव , द्वारिकानाथ, जगदीश, महेश पांडेय , कौशल किशोर, ज्वाला प्रसाद, रामलौट सहित नगर की माताएं बहने युवक व नागरिक बन्धु उपस्थित रहे।

Advertisements
इसे भी पढ़े  कुमारगंज के अली हॉस्पिटल को प्रशासन ने किया सील

Comments are closed.