The news is by your side.

छात्र-छात्राओं को बढ़ते वायु प्रदूषण के प्रति किया जागरूक

लश्करी प्रीपेरेटरी स्कूल बीकापुर ने सोलर रूफ टॉप अपनाने का लिया संकल्प

अयोध्या। पर्यावरण के प्रति समर्पित 100 प्रतिशत उत्तर प्रदेश अभियान, अवध पीपल्स फोरम एवं जिला फोरम के द्वारा लश्करी प्रीपेरेटरी स्कूल, बीकापुर के अंतर्गत वायु प्रदूषण के सन्दर्भ में विद्यार्थियों के बीच जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में अवध पीपल्स फोरम के अभियानकर्ताओं के साथ विद्यालय के छात्रों और शिक्षकों ने भाग लिया। “100 प्रतिशत उत्तर प्रदेश अभियान एवं अवध पीपल्स फोरम की ओर से सौरभ दूबे ने बताया किया, छात्र-छात्राओं को दिन प्रतिदिन बढ़ते वायु प्रदूषण से सचेत करने के लिए एवं इसके समाधान की दिशा में प्रदेश भर में विभिन्न कैंपसों में जागरूकता कार्येक्रम किया जा रहा है। इसी क्रम में आज झुनझुनवाला पी.जी, फैज़ाबाद में किया गया है। जिसमे बच्चों को वर्तमान वायु प्रदूषण के संकट से अवगत कराया गया. साथ ही हालिया लांसेट के रिपोर्ट का हवाला दे कर बताया कि 2 लाख 60,000 से अधिक मौते 2017 में केवल उत्तर प्रदेश में हुई है। इस प्रकार अनेक आंकड़े एवं रिपोर्टे आ रही हैं जो प्रदेश में गहराते वायु प्रदूषण के संकट को प्रदर्शित कर रही हैं।” संवाद कार्यक्रम के दौरान विद्यालय के प्रधानाचार्य फिरोज़ अहमद जी ने इस जागरूकता अभियान के लोगों का स्वागत करते हुए कहा आप लोगो का यह पर्यावरण को बचाने का तथा स्वच्छ रखने का प्रयास सराहनीय है। आज प्रदेश भर में वायु प्रदूषण का संकट लगातार गहराता जा रहा है। इस सन्दर्भ में लोगों और सरकार को एक सार्थक प्रयास करने की आवश्कता है। आज के कार्यक्रम से सभी बच्चों में वायु प्रदूषण को लेकर जागरूकता बढ़ी है और वहाँ के बच्चों द्वारा स्वच्छता और पर्यावरण बचाओ पर जगह जगह नुक्कड़ नाटक तैयार करके किया जा रहा है। कार्यक्रम के आयोजकों को धन्यवाद् देते हुए जिला फोरम के सदस्य दीपक कुमार ने बताया कि आज वायु प्रदूषण निरंतर आम जन जीवन को नुकसान पहुंचा रहा है। ऐसे में, अगर हम अपनी ओर से छोटे छोटे उपाय करना शुरू कर दें तो जल्द ही हम इस समस्या को हल करने की दिशा में आगे बढ़ सकते है। इस कार्यक्रम में 100 प्रतिशत उत्तर प्रदेश अभियान के सदस्य, दि क्लाइमेट एजेंडा एवं स्कूल की शिक्षिका ज़ाबिहून निशा, जिला फोरम के सदस्य शिवांशु मिश्रा, आशीष कुमार, आदि लोग शामिल हुये। अंत में वायु प्रदूषण के समाधान के रूप में परिसर में सौर ऊर्जा के प्रयोग का संकल्प लिया गया।

Advertisements
Advertisements

Comments are closed.