राम और अयोध्या भारत की आत्मा : लल्लू सिंह

अयोध्या पर्व में श्रीराम से जुड़े गुमनाम धरोहरों की लगेगी प्रदर्शन

अयोध्या। राम और अयोध्या भारत की आत्मा हैं यदि किसी को भारत को समझना है तो उसे राम और अयोध्या को जानना होगा। इसी उद्देश्य को लेकर इन्दिरा गांधी राष्ट्रीय कला केन्द्र नई दिल्ली में तीन दिवसीय अयोध्या पर्व का आयोजन 4 जनवरी से किया जा रहा है। यह जानकारी भाजपा कार्यालय पर आयोजित पत्रकार वार्ता में सांसद लल्लू सिंह ने दिया।
उन्होंने बताया कि आज जरूरत इस बात की है कि भारत को अयोध्या और राम के विस्तातिर स्वरूप में जाना और समझा जाय। वास्तव में अयोध्या वह स्मृति पुंज है जिसकी रोशनी में हमारा देश स्मृति भ्रंस की त्रासदी से मुक्त हो सकता है। अयोध्या पर्व का आयोजन इसी दिशा में एक लघु प्रयास है। उन्होंने कहा कि पर्व के माध्यम से अयोध्या क्षेत्र के लोक गीत, नृत्य, लोक संगीत, खान पान, से जहां लोगों को परिचित कराया जायेगा वहीं चौरासी कोसी परिक्रमा क्षेत्र के उन स्थलों की भी जानकारी प्रदर्शनी के माध्यम से सरकार और देश को दी जायेगी जहां प्रभु राम से जुड़ी धरोहरें है। उन्होंने कहा कि तमाम धरोहर ओझल हो गये हैं। चौरासी कोसी परिक्रमा क्षेत्र में 151 स्थल आते हैं जिनका पौराणिक, धार्मिक और ऐतिहासिक महत्व है हमें मखौड़ा धाम के बारे में देश और समाज को बताना होगा जहां संतति विज्ञान के पहले वैज्ञानिक श्रृंगीऋषि का आश्रम है। ऋषि परासर का आश्रम भी इसी मार्ग पर स्थित है ऋषि के पुत्र वेदव्यास हैं जिन्होंने वेदों की रचना किया। यही नहीं दशरथ समाधि स्थल, भरत कुण्ड, सूर्य कुण्ड, सीता कुण्ड आदि की भी जानकारी अयोध्या पर्व में लोगों को दी जायेगी।
अयोध्या पर्व के संयोजक सांसद लल्लू सिंह ने बताया कि 4 जनवरी को प्रातः 11 बजे चौरासी कोसी परिक्रमा प्रदर्शनी का उद्घाटन नितिन गडकरी द्वारा किया जायेगा। दोपहर 2 बजे औपचारिक उदघाटन महंत नृत्यगोपाल दास व अवधेशानन्द गिरी संयुक्त रूप से करेंगे। सांय 5 बजे पखावज वादन व शास्त्रीय गायन व 7 बजे शेखर सेन का तुलसी एकल मंचन होगा। दूसरे दिन रामचरित मानस पाठ, अयोध्या शैली व परम्परा में भगवान राम की स्तुति, फरूवाही नृत्य, गांधी का राम राज्य संगोष्ठी, कबीर के राम सांस्कृतिक प्रस्तुति आयोजित होगा। पर्व का समापन 6 जनवरी को होगा जिसमें राजनाथ सिंह, धमेन्द्र प्रधान, मनोज सिन्हा, राम बहादुर राय, सच्चिदानन्द जोशी आदि मौजूद रहेंगे। इसी दिन सांयकाल अवधी कवि सम्मेलन का भी आयोजन किया जायेगा। पत्रकार वार्ता के दौरान मेयर ऋषिकेश उपाध्याय, भाजपा जिलाध्यक्ष अवधेश पाण्डेय बादल, महानगर अध्यक्ष कमलेश श्रीवास्तव भी मौजूद रहे।

इसे भी पढ़े  पंचकोसी परिक्रमा : आस्था की डगर पर बढ़े श्रद्धालुओं के कदम

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More