सरकार की मंशा के प्रति अफसर बने संवेदनशील: रामचन्द्र यादव

557 के सापेक्ष बने महज 45 शौचालय, ऐसे कैसे मोदी का सपना पायेगा साकार

Advertisement

रूदौली-फैजाबाद। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा दो अक्तूबर 2018 तक देश को खुले में शौचमुक्त करने का लक्ष्य है। 557 के सापेक्ष महज 45 शौचलय बन सके हैं। ऐसे कैसे मोदी का सपना साकार हो पाएगा। 26 जून तक हरहाल में मनरेगा की मजदूरी मजदूरों के खाते में पहुंच जाना चाहिए। कोई भी पात्र व्यक्ति राशन कार्ड से वंचित न रहे। सरकार की मंशा के प्रति अफसर भी संवेदनशील बनें।
यह बातें सार्वजनिक उपक्रम एवं संयुक्त निगम समिति के चेयरमैन व विधायक रामचंद्र यादव ने कही। वह गुरुवार की देर शाम रुदौली ब्लॉक क्षेत्र के बहरास गांव में आयोजित ग्राम चौपाल को सम्बोधित कर रहे थे। इस दौरान श्री यादव ने विद्युतीकरण न हो पाने वाले गांवों का नाम न बता पाने पर बाबा बाजार सबस्टेशन के अवर अभियंता को खरी-खोटी सुनाई। स्वास्थ्य विभाग के अफसरों को भी सुधरने की हिदायत दी। ग्राम बहरास में 557 के सापेक्ष 50 का पैसा मिला। जिसमें से केवल 45 ही शौचालय निर्माण पूर्ण होने पर चिंता जताई। उन्होंने जब पूछा कि कितने लोग भारत मिशन में शामिल होना चाहते हैं तो हर कोई उत्सुक दिखा। विधायक बोले कि प्रार्थना करने आया हूं कि गांव खुले में शौचमुक्त हो। उन्होंने लक्ष्य को पूरा करने के लिए अलग से टीम गठित करने के निर्देश दिए।
धनपता पुत्री बच्चू लाल ने शिकायत की कि तीन साल से उन्हें तालाब खुदाई की मजदूरी नहीं मिली। इस पर 26 जून तक मजदूरी दिलाने के निर्देश दिए। राम मिलन ने ऋण माफी की अर्जी की। नहीं हुआ। सीतापति पत्नी सहदू ने कहा साहब, पति को मरे 15 साल बीत गये लेकिन उन्हें पेंशन नहीं मिली।इसी तरह रेखा पत्नी राम नरेश ने भी शिकायत की। इस मौके पर जिला कृषि अधिकारी वीके सिंह, नायब तहसीलदार नरसिंह नारायण, सीडीपीओ, ग्राम पंचायत अधिकारी अनिल कुमार, एडीओ एसटी विनोद कुमार, एडीओ समाज कल्याण, सप्लाई इंस्पेक्टर विनोद यादव, लेखपाल नाथूराम, ग्राम प्रधान पति राम तीरथ, पिन्टू यादव व हियुवा नेता राघवेंद्र शर्मा आदि मौजूद रहे।