सो रहे बुजुर्ग किसान की धारदार हथियार से निर्मम हत्या

खेल में लगे नलकूप भवन में सो रहा था किसान

(अशोक वर्मा) बीकापुर। नलकूप भवन में सो रहे 60 वर्षीय बुजुर्ग किसान की अज्ञात हत्यारों द्वारा धरदार हथियार से की गई नृसंश हत्या को लेकर इलाके में सनसनी फैल गयी है। हत्या की यह घटना बीकापुर कोतवाली क्षेत्र के ग्राम सेधूतारा मजरा पहली उपाध्या का पुरवा गॉव में 24/25 नवम्बर की मध्य रात के बाद ही है। मृतक विजय बहादुर तिवारी उम्र 60 वर्ष पुत्र अनन्त प्रसाद तिवारी मिल्कीपुर तहसील क्षेत्र के बीकापुर कोतवाली सीमान्तर्गत सेन्धूतारा मजरे पहली उपध्या पुरवा गॉव में बीते 30 वर्ष पूर्व से अपने परिवार के साथ जमीन खरीदकर स्थायी रूप से रह रहा था। वह मूल रूप से बीकापुर कोतवाली क्षेत्र के भरहूखाता (संनिकट रेलवे स्टेशन चौरे बाजार) गॉव का रहने वाला था। मृतक 4 लड़कों का पिता था। बडा पुत्र नरेन्द्र प्रसाद तिवारी उम्र करीब 42 साल अपने पैतृक गॉव भरहूखाता में रहता है। दूसरा पुत्र अर्जुन तिवारी उम्र करीब 39 साल पंजाब में प्राइवेटनौकरी करता है। तीसरा पुत्र चिन्तामणि तिवारी उम्र करीब 35 साल अपनी ससुराल केवलापुर उर्फ तकमीनगंज मजरे मोती का पुरवा में रह रहा है। सबसे छोटा पुत्र राजमणि तिवारी उम्र करीब 30 साल अपनें पिता विजय बहादुर तिवारी के साथ सेन्धूतारा गॉव में रहकर खेती बारी संभालता और पिता का हाथ बटाता था। प्रारम्भिक रिर्पोटों के मुताबिक रोज की तरह मृतक विजय बहादुर शनिवार की शाम भोजन करने के बाद गॉव से पश्चिम अपने खेत में लगे इंजन चालित अपने नलकूप की रखवाली के लिए नलकूप भवन पर चला गया। बताते है कि रविवार की सुबह जब वह घर पर नास्ते के लिए समय से नही पहुंचा तो बिलम्ब देख पत्नी अपने नाती के साथ उसे बुलाने के लिए नलकूप पर गई। वहां भवन के अन्दर विजय बहादुर का इंजन के बगल बाल्टा में तोड मरोडकर उकडू रखा हुआ खून से लथपथ पडे शव का नजारा देखकर चिघ्घाड उठी। पत्नी और नाती की चींख पुकार सुनकर अगल बगल के खेतो में काम कर रहे लोग जब मौके पर पहुंचे तो खून से लथपथ मृतक का शव देखकर सभी स्तब्ध रह गये। इसी बीच घटना की सूचना पाकर ग्राम प्रधान के प्रतिनिधि माखनलाल यादव भी मौके पर पहुच गये उन्होने फोन से बीकापुर कोतवाली पुलिस को सूचना दी। सूचना पाकर कोतवाली पुलिस मौके पर पहुची और मृतक के शव को कब्जे में लेकर पंचायतनामा करके पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। नलकूप भवन के बाहर बगल पेड के नीचे अंग्रेजी शराब 8 पीएम का खोखा तथा एक खाली गिलास भी मिला है। मृतक के सिर पर किसी धारदार हथियार से कई घातक प्रहार हुए है किन्तु बाल्टी में शव को मरोडकर रख देने से अशंका होती है की पहले मृतक की हत्या कर दी गई होगी उसके बाद उसे बाल्टी में घूसेडा गया होगा। ऐसा प्रतीत होता है कि यहाँ बैठकर हत्यारे ने पहले शराब पी होगी उसके बाद कुछ नशा हो जाने पर हत्या की घटना को अन्जाम दिया होगा। हत्या की वजह का पता नही चल सका है पुलिस हत्या के कारणों को जानने के लिए विभिन्न पहलुओ पर बारीकी से छानबीन कर रही है। इस सम्बन्ध में मृतक के पुत्र चिन्तामणि तिवारी की तहरीर पर अज्ञात हत्यारों के खिलाफ हत्या का मुकदमा अन्तर्गत धारा 302 आईपीसी दर्ज कर दिया गया है।

इसे भी पढ़े  कृषि मंत्री ने किया विश्वविद्यालय का किया गया निरीक्षण

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More