बुलंदशहर की घटना के विरोध वामदल ने की प्रतिरोध सभा

अयोध्या। बुलंदशहर की घटना के विरोध में ग़ांधी पार्क में प्रतिरोध सभा भाकपा के प्रांतीय नेता कामरेड अशोक तिवारी की अध्यक्षता व माले के प्रांतीय नेता कामरेड अतीक अहमद के संचालन में हुई। सोची समझी रणनीति के तहत भीड़ का सहारा लेकर साम्प्रदायिक तत्वों द्वारा की गई। उकसावे और हत्या की कार्यवाही की कड़ी निंदा की गई। वामनेताओं ने कहा कि जनहित के मुद्दों पर विफल भाजपा सरकार जनता का ध्यान बटाने के लिए भीड़ का नाम देकर ये दंगाई ताकते अपनी साम्प्रदायिक ध्रुवीकरण की राजनीति को बढ़ावा देने की कोशिशें कर रही है। हिंदुत्व के नाम पर राजनीति करने वाली साम्प्रदायिक ताकतें साम्प्रदायिक ध्रुवीकरण के लिए इस तरह के हथकंडे अपना रही है।देश मे संविधान ,लोकतंत्र,न्याय पालिका पर सुनियोजित ढंग से लगातार हमले जारी है।
भाजपा समर्थक लगातार दलितों,अल्पसंख्यकों व महिलाओं पर हमले करते जा रहे है लेकिन सरकार इन अराजक घटनाओ को करने के लिए खुला छोड़ रखी है।जो बिना की दण्ड व भय के उत्पात मचाये हुए है। पूरे प्रदेश में कानून व्यवस्था पूरी तरह ध्वस्त हो चुकी है।सरकार भीड़ की राजनीति को प्रोस्टाहित कर रही है और अराजक भीड़ द्वारा की जा रही हिंसा के आधार पर देश को एकबार पुनः बाट देने की साजिश रच रही है।
बुलंदशहर की घटना इसी सोची समझी रणनीति का परिणाम है वामदल इस तरह की घटनाओं की कड़ी निंदा करते हुए ततकाल रोक लगाई जाए और दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही सुनिश्चित की जाय। प्रतिरोध सभा मे जनौस के प्रदेश सचिव कामरेड राधेश्याम वर्मा,इंकलाबी नौजवान सभा के प्रदेशाध्यक्ष कामरेड अतीक अहमद,भाकपा के प्रांतीय नेता कामरेड अशोक तिवारी, कामरेड कमलेश यादव,कामरेड अफाक उल्लाह, जनौस जिलाध्यक्ष कामरेड धीरज द्विवेदी,कामरेड अखण्ड प्रताप यादव,जिलाप्रभारी कामरेड विश्वजीत सिंह,राजू,माकपा नागरमहासचिव कामरेड रामजी तिवारी,कामरेड लतीफ अहमद,कामरेड मोहम्द,फारूक इशहाक,जनौस के प्रदेश उपाध्यक्ष कामरेड सत्यभान सिंह जनवादी आदि लोग मौजूद रहे।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More