in

आर्थिक आधार पर दिया गया आरक्षण संविधान सम्वत नहीं : सुनील निषाद

संविधान बचाओ संघर्ष समिति ने तिकोनिया पार्क मे दिया धरना

अयोध्या। संविधान बचाओ संघर्ष समिति द्वारा 10 प्रतिशत आर्थिक आधार पर सवर्ण आरक्षण के विरोध में व चुनाव आयोग द्वारा सुप्रीम कोर्ट के आदेश की अवमानना के विरोध में 5 करोड़ हस्ताक्षर अभियान एक साथ 31 राज्यों में 550 जिलों में पांच हजार तहसीलों में एव 50 हजार ब्लाकों में चार चरणों में राष्ट्रव्यापी आन्दोलन जिला मुख्यालय पर किया जा रहा है। सदर तहसील तिकोनिया पार्क मे समिति के जिला सह संयोजक श्याम जी मार्य ने कार्यक्रम का शुभारम्भ किया। मुख्य अतिथि जिला संयोजक सुशील निषाद ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने संविधान के मूल ढ़ाचे के विरोध में जाकर सवर्णों को 10 प्रतिशत आरक्षण आर्थिक आधार पर दिया जो कि संविधान संवत नहीं है। संविधान में सामाजिक व शैक्षिक आधार पर जो पिछड़े है उनको जन संख्या के अनुपात में आरक्षण दिये जाने का प्राविधान है। भारत मुक्ति मोर्चा के जिलाध्यक्ष गुरू प्रसाद आजाद ने कहा कि हम लोग आजादी के बाद से अनुसूचित जाति, जन जाति, पिछड़ी जाति एवं अन्य धार्मिक अल्पसंख्यकों को जनसंख्या के अनुपात में आरक्षण मांग रहे हैं परन्तु हमारे लोगों को लाठिया मिल रही है। सुनील कुमार ने कहा कि ईवीएम के द्वारा हमारे वोटों की चोरी बड़े पैमाने पर की जा रही है इसलिए हम मांग कर रहे है कि ईवीएम को हटाकर वैलेट पेपर से चुनाव करवाया जाय तभी चुनाव स्वतंत्र और निष्पक्ष होगा। कार्यक्रम अवधेश भारतीय विद्यार्थी मोर्चा, बोरोजगार मोर्चा, मूल निवासी महिला संघ, बहुजन मोर्चा आदि संगठनों ने संविधान बचाओ संघर्ष समिति का समर्थन दिया। इस मौके पर अवधेश बहादुर, उमाशंकर यादव, सुखमती, पुष्पा गौतम, डा. शहनशाह, तिलकराम प्रजापति, दीपक नारंग, प्रमोद, अमरनाथ चौधरी, राम जगत पटेल, बृजेश रावत, चंचल निषाद, राम निवास यादव, आदि मौजूद रहे।

What do you think?

Written by Next Khabar Team

केक काटकर मनाया मुख्तार अंसारी का जन्मदिन

राष्ट्रवादी पार्टी ऑफ इंडिया ने लोस चुनाव की बनाई रणनीति