भारतवर्ष के अनमोल रत्न थे अटल: रामचन्द्र यादव

रूदौली विधायक ने अर्पित की श्रद्धांजलि

Advertisement

रुदौली। जिस तरह से पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी जी ने भारत के 125 करोड़ लोगो के बीच में अपना स्थान बनाया है अभी तक किसी नेता का नही है वो अतुलनीय होने के साथ भारत वर्ष के अनमोल रत्न थे ।उक्त बाते स्थानीय डाक बंगले पर आयोजित श्रधांजलि सभा के दौरान क्षेत्रीय भाजपा विधायक राम चन्द्र यादव ने कही । उन्होंने कहा कि स्व श्री वाजपेयी जी की मृत्यु के बाद देश को जो छति हुई उसको को पूरा नही किया जा सकता ।जन्म से वो देश के लिये समर्पित थे ।अगर दो जून की रोटी गरीबो को मिल रही तो वह योजना बनाने वाले और कोई नही अटल विहारी वाजपेयी थे । उनके सपनों को शिखर तक ले जाने का दायित्व हम सब पर है तभी उनके लिए सच्ची श्रद्धाजली हो पाएगी ।विधायक श्री यादव ने कहा कि भारत के नव निर्माण का जो खाका उन्होंने खीचा आजतक किसी ने नही यही कारण है कि विरोधी भी उनका सम्मान करते है ।प्रदेश कार्य समिति के सदस्य रघुनंदन चैरसिया ने कहा कि लम्बी है राहे बढ़ते जाना। देख मुशाफिर थक न जाना ।।पंक्तियो को पढ़कर अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए का कि 15 अगस्त को उन्होंने देह त्याग नही किया कि ताकि उनकी वजह से देश का तिरंगा खुशी के मौके पर शोक में झुकाया न जाये ।16 को देह त्याग किया ।ऐसे अटल थे अटल जी ।भाजपा के अवध क्षेत्र मंत्री अजित प्रताप सिंह ने कहा कि जब विश्व के पटल पर देश का मामला आया तो विपक्ष में रहते हुए भी देश के लिए आपने ऐतिहासिक कार्य किये ।उन्ही के विचारधारा की देन है कि आज देश सहित 21 राज्यों में पार्टी की सरकार है ।एक बार की बात है कि लखनऊ में चुनाव चल रहे थे सब लोग कह रहे थे अटल जी जीत रहे है अटल जी जीत रहे है ये सब देख अन्य पार्टियो के लोग जो छोटे चुनाव लड़ रहे उन लोगो ने भी कहना चालू कर दिया कि ऊपर वाला वोट उन्हें दे दिजीये नीचे वाला हमे ये बात अटल जी को पता चली तो उन्होंने एक सभा मे कहा अगर आप लोगो ने कुर्ता हमे दे दिया और पैजामा किसी और को तो ये अटल बिहारी बाजपेयी क्या करेगा ।वास्तव में आपके कण्ठ में सरस्वती जी का वास था ।प्रमुख प्रतिनिधि मिल्कीपुर कमलेश यादव ने कहा कि ऐसा महान नेता अभी तक भारत वर्ष में न देखा और न देखेंगे ।पूरा जीवन राष्ट्र के लिये समर्पित था ।ईश्वर से मेरी कामना है कि वो भारत मे दोबारा जन्म ले ।प्रधान संघ के अध्यक्ष राम प्रेस यादव ने कहा कि गरीबो का कैसे हित हो इसका चिंतन हमेशा किया करते थे ।यही कारण है कि लोग दलगत भावना से उठकर उनका सम्मान करते है ।सासंद प्रतिनिधि शिव गोविंद पांडेय ने कहा कि अटल जी के विचारों को अपने अंदर रखकर कार्य करे तभी उनको सच्ची श्रद्धांजलि होगी ।पत्रकार प्रह्लाद तिवारी ने कहा कि अटल जी शुरुवाती दिनों में पत्रकारिता से जुड़थे इसीलिए उनको पत्रकारों का भीष्मपितामह कहा जाता है । राजेश गुप्ता ने कहा कि आज बड़े ही दुख का दिन है ।भारतीय राजनीति का धुर्व का तारा आज हम सबके बीच नही है । पण्डित अटल विहारी वाजपेयी जी राजनैतिक सुचिता के सच्चे साधक थे ।उनका व्यक्तित्व हमेशा पथ प्रदर्शक के रूप में विद्यमान रहेगा ।ऐसी दिव्य आत्मा को सत सत नमन।स्वामी जी ने कहा कि राष्ट्र के लिये समर्पित व्यक्ति थे अटल जी जैसा कोई कोई और नही है । मवई मण्डल के अध्यक्ष निर्मल शर्मा ने कहा कि अटल जी बेजोड़ थे उनका न कोई जोड़ है न रहेगा।आज पूरा देश उनके न रहने पर रो रहा है ।आज हमारे बीच नही है लेकिन उनके निर्णय व उनकी यादे हमेशा जीवित रहेंगी । दुर्गेश चन्द्र श्रीवास्तव ने कहा कि भारत को विश्व के पटल पर शक्ति शाली बनाने का श्रेय पण्डित अटल बिहारी वाजपेयी जी को ही जाता है । ।ताजजुद्दीन पप्पू ने कहा एक ऐसे महान नेता थे जिनकी मृत्यु की खबर सुनकर हर वर्ग के लोगो को गहरा दुख हुआ है ।ऐसे महान नेता दुबार इस देश मे पैदा नही होंगे । आलोक यादव,स्वामी जी शतीन्द्र शास्त्री शेखर गुप्ता ,राम प्रेस यादव,महंत सच्चिदानन्द दास जी, ,भास्करदास,अनिल लोधी मण्डल अध्यक्ष रूदौली देहात , कुलदीप सोनकर, राजेश यादव ,अधिवक्ता प्रमोद द्विवेदी ,दिनेश यादव राम प्रताप यादव ,सन्दीप नवीन शुक्ला, मंशा राम रावत सहित सैकड़ो की संख्या में लोगों मौजद रहे ।