The news is by your side.

पीरियड का मनोदंश है प्री पीरियड डिस्फोरिया : डा. आलोक मनदर्शन

-वर्ल्ड मेंस्ट्रुअल हाइजीन दिवस 28 मई पर आयोजित विशेष कार्यशाला रिपोर्ट

अयोध्या। पीरियड के सप्ताह पूर्व बहुत सी युवतियां असामान्य मनोस्थिति से रूबरू होती है जिसे प्री पीरियड डिस्फोरिया या पीरियड पूर्व मनोदंश कहा जाता है। दुर्भाग्यवश इस मनोदशा के बारे मे अनभिज्ञतावश वे इसका दंश तो झेलती है साथ ही इसके इलाज़ से वंचित रह जाती है। यह बाते जिला चिकित्सालय में आयोजित वर्ल्ड मेंस्ट्रुअल हाइजीन दिवस 28 मई पर आयोजित मेंस्ट्रूअल मेन्टल हेल्थ विषयक विशेष कार्यशाला में मनो परामर्शदाता डा आलोक मनदर्शन द्वारा कही गयी।

Advertisements

चिंतालु व्यक्तित्व तथा मनोसामाजिक,अकादमिक , कैरियर , प्रोफेशनल व पारिवारिक तनाव से ग्रसित महिलाओं में प्री पीरियड डिस्फोरिया होने की संभावना बढ़ सकती है। हार्मोन एस्ट्रोजन व प्रोजेस्टेरोन तथा मनोरसायन सेरोटोनिन व डोपामिन के स्तर में उतार-चढ़ाव इसके लिये जिम्मेदार है।

👉 लक्षण :

अवसाद, उदासी,हताशा रुलाई आना,आत्महत्या के विचार,घबड़ाहट,क्रोध या चिड़चिड़ापन,चिंतित रहना,मूड स्विंग,अनिद्रा,भूख का अनियमित होना,आत्म विश्वास मे कमी इत्यादि।

 

👉सलाह :

मेंस्ट्रूअल हाइजीन के साथ ही पीरियड से जुड़ी भावनात्मक व मानसिक समस्याओं के प्रति परिवार, स्कूल तथा कार्यस्थल में जागरूकता तथा भावनात्मक प्रबंधन का अभ्यास अपेक्षित परिणाम देता है। जरूरत पड़ने पर मनोपरामर्श अवश्य लें । हैप्पी हार्मोन सेरोटोनिन व डोपामिन बढ़ाने वाली दिनचर्या जैसे खुशमिजाजी , सामाजिक समरसता, योगा, ध्यान, एक्सरसाइज, रचनात्मक क्रिया कलाप, आठ घंटे की नींद, पैस्टिक आहार, मसाज व हॉबी मनोरंजन आदि लाभकारी होते है।28 मई का दिन प्रतीकात्मक है क्योंकि मई साल का 5 वां माह होता है और पीरियड 5 दिनों का तथा पीरियड साइकल 28 दिन का होता है।

Advertisements
इसे भी पढ़े  30 देशों के रामभक्त रामलला का दर्शन कर हुए निहाल

Comments are closed.