The news is by your side.

प्रतिमा विसर्जन के साथ सम्पन्न हुआ प्रभु झूलेलाल जयंती समारोह

-सिंधी समाज के घरों में स्थापित प्रतिमाओं व कलश का सरयू नदी में किया गया विसर्जन

अयोध्या। संत सतराम दास दरबार के सांई नितिन राम के सानिध्य में मनाये जा रहे पॉंच दिवसीय प्रभु झूलेलाल व अमर शहीद संत कंवरराम जयन्ती कार्यक्रम बीते गुरूवार की देर शाम घर-घर में स्थापित झूलेलाल की प्रतिमाओं व कलश विसर्जन के साथ सम्पन्न हुआ। समिति के अध्यक्ष राजकुमार मोटवानी की अध्यक्षता में गुप्तार घाट में सादगी के साथ विसर्जन हुआ।

Advertisements

समिति के प्रवक्ता ओम प्रकाश ओमी ने बताया कि बढ़ते कोविड को देखते हुए रामनगर, टकसाल, कंधारी बाजार, अमानीगंज व गुरूनानकपुरा के कुछ परिवारों ने गुप्तारघाट सरयू नदी में प्रतिमाओं का विसर्जन किया व कुछ परिवारों ने घर में बाल्टी, टब में पानी भरकर अस्थाई कुण्ड बनाकर झूलेलाल की आरती व अरदास कर विधि विधान से प्रतिमाओं का विसर्जन किया। प्रवक्ता ने बताया कि घरों में किये गये विसर्जन के बाद प्रतिमाओं की मिट्टी घर के गमलों में डाल दी गयी ताकि पवित्र मिट्टी ऊर्जा के रूप में घरों में रहे। विसर्जन कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे समिति अध्यक्ष श्री मोटवानी ने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए सादगी व सीमित दायरे में किया गया।

घाट व घरों में झूलेलाल का जयकारा लगाकर देश में सुख शान्ति और समृद्धि की कामना की गयी और साथ ही कोरोना संकट और महामारी से जल्द से जल्द मुक्ति की प्रार्थना की गयी। विसर्जन कार्यक्रम में सिन्धी सेन्ट्रल पंचायत के मुखिया ओम प्रकाश अंदानी, राकेश तलरेजा, पवन जीवानी, नारायण दास केवलरामानी, कन्हैया लाल सागर, जयप्रकाश क्षेत्रपाल, तेज कुमार माखेजा, सुरेश तलरेजा, जयराम दास केवलरामानी, सुरेश भारतीय बाला, गोविन्द राम मंध्यान, अर्जुन माखेजा, कपिल हसानी, संजय मध्ंयान, संजय भारतीय, सूरज भारतीय, रिंकेश भारतीय, मीत भारतीय आदि लोग मौजूद थे। इस मौके पर महिलायें व बच्चे भी मौजूद थे।

इसे भी पढ़े  इंडस्ट्री व एकेडमिक सहयोग से व्यावहारिक विशेषज्ञता सीखने को मिलेगीः मनोज सिंह

 

Advertisements

Comments are closed.