ढाई आखर ‘‘मेरे देश के नाम खत‘’ लेखन प्रतियोगिता में कर सकते हैं प्रतिभाग

    डाक विभाग ने आयोजित की है राष्ट्रीय स्तर पर खुली पत्र लेखन प्रतियोगिता

    Advertisement

    फैजाबाद। डाक विभाग में राष्ट्रीय स्तर पर खुली पत्र लेखन प्रतियोगिता ढाई आखर ‘मेरे देश के नाम खत‘ शीर्षक पर आयोजित किया है ढाई आखर प्रतियोगिता जूनियर और सीनियर दो ग्रुप में 21 जुलाई 2018 को प्रधान डाकघर में आयोजित की गई हैं जिसमे कोई भी प्रतिभाग कर सकता है जिसके लिए उसे 20जुलाई तक प्रवर अधीक्षक डाकघर कार्यालय को सूचित करना होगा । इसके साथ ही ढाई आखर प्रतियोगिता में अधिक से अधिक भाग लेने के लिए डाक विभाग स्कूलों, गाँव गाँव मे चैपाल लगाकर लोगों को पत्र लिखकर लेटरबाक्स के द्वारा भेजने के लिए लोगों को प्रेरित कर रहा है । आयोजित बैठक के दौरान फैजाबाद मण्डल के प्रवर अधीक्षक डाकघर जे बी दुर्गापाल ने बताया कि ढाई आखर प्रतियोगिता ‘मेरे देश के नाम खत’ शीर्षक पर निबंध लिखा जाना है प्रतियोगिता का मुख्य उद्देश्य बच्चों को देश के प्रति राष्ट्र भक्ति की भावना जागृत करते हुए सोशल मीडिया से दूर हटकर पत्र लेखन की प्रति अभिरुचि बढाना है । उन्होंने यह भी कहा किआज कल पत्र लेखन के प्रति रुचि काम होती जा रही है एवं केवल प्रतियोगी परीक्षा के लिए छात्र निबन्ध का अभ्यास करते है। जबकि पूर्व में एक एक शब्द पर गहनता से विचार करके हृदय के उद्गारों को पत्र पर लिखा करते थे जो पाठक के हृदय को भाव विभोर कर दिया करता था। निबन्ध के लिए शब्दो का अच्छा ज्ञान होना आवश्यक है जबकि आज कल बहुत ही संक्षेप में लोग अपनी बात करते व लिखते है।
    सहायक अधीक्षक डाकघर ए के सिंह ने बताया कि छात्रों को इस ढाई आखर प्रतियोगिता में भारत सरकार की तरफ से दोनों ग्रुपों को अलग अलग राष्ट्रीय स्तर प्रथम द्वितीय तृतीय क्रमशः 50000, 25000, 10000, तथा प्रदेश स्तर पर प्रथम द्वितीय तृतीय क्रमशः 25000, 10000, 5000, रुपये का नगद पुरुस्कार दिया जायेगा । इस अवसर पर मुख्य विपणन अधिकारी सत्येन्द्र प्रताप सिंह ने प्रतियोगिता के विषय मे बताया कि ढाई आखर प्रतियोगिता को जूनियर 18 वर्ष से कम और सीनियर 18 वर्ष से अधिक दो ग्रुप में आयोजित है जिसमें भाग लेने के लिए डाकघर के अंतर्देशीय पत्र पर 500 शब्द अथवा ।-4 पेपर पर लिफाफा के अन्दर रखकर लेटरबाक्स के माध्यम से भी चीफ पोस्टमास्टर जनरल उत्तर प्रदेश लखनऊ 226001 के पते पर 30 सितम्बर तक प्रेषित कर सकते है । साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि ढाई आखर पत्र लेखन प्रतियोगिता के लिए गांवों में चैपाल और शहर में नुक्कड़ों पर, स्कूलों और पोस्टमैन के द्वारा घर घर जानकारी देने का भी प्रबन्ध किया गया है इस अवसर बैजनाथ सिंह, अजय पाण्डेय, उपेन्द्र वर्मा, चिन्ता हरण सिंह, राम सहाय तिवारी, फतेह बहादुर श्रीवास्तव आदि मौजूद रहे।