The news is by your side.

शारदीय नवरात्र के दूसरे दिन बाल विवाह से आजादी की दिलाई शपथ

-विभिन्न टीमों ने महिलाओं व बालिकाओं के बीच चलाया जागरूकता कार्यक्रम


अयोध्या। प्रदेश सरकार के निर्देश पर जनपद में चलाये जा रहे मिशन शक्ति अभियान-4 में दूसरे दिन पुलिस विभाग के कार्यालयों में अधिकारियों और कर्मचारियों को बाल विवाह से आजादी की शपथ दिलाई गई। वहीं अभियान के तहत विभिन्न टीमों का जागरूकता कार्यक्रम जारी रहा।

Advertisements

सोमवार को पुलिस कार्यालय प्रांगण में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक राजकरन नय्यर ने महिला सशक्तिकरण के तहत बाल विवाह से आजादी के लिए समस्त पुलिस कर्मियों को बाल विवाह खत्म करने के लिए हर सम्भव प्रयास करने की शपथ दिलाई। उन्होंने कहा कि हम सभी को यह प्रण लेना होगा कि प्रत्येक बालिका स्वतंत्र, सुरक्षित एवं शिक्षित हो। वहीं समस्त क्षेत्राधिकारीगण ने अपने कार्यालयों एवं थाना-चौकी प्रभारियों ने थाना-कोतवाली व चौकी परिसर में कर्मचारियो को बाल विवाह से दूर रहने तथा कहीं पर भी बाल विवाह न होने देने की शपथ दिलाई।

शारदीय नवरात्र के दूसरे दिन भी महिलाओं व बालिकाओं की सुरक्षा, सम्मान तथा स्वावलंबन के लिए शहर से गाँव तक टीमें सक्रिय रहीं। नारी सुरक्षा दल व महिला बीट पुलिस दल की विभिन्न टीमों ने सिद्धपीठों,दुर्गा मंदिरों तथा दुर्गा पूजा पंडालों पर पहुंच दर्शन-पूजन करने आई महिला श्रद्धालुओं को अभियान की जानकारी दी। महिला सुरक्षा के संबंध में शासन की ओर से जारी विभिन्न हेल्पलाइन नंबरों 1090, यूपी-112, 181,1076 आदि की जानकारी दी और इन नंबरों से संबंधित पत्रक का वितरण किया।

साइबर अपराध से बचने के लिए किसी अनजान व्यक्ति को अपना बैंक डिटेल तथा ओटीपी शेयर न करने और साइबर फ्रॉड होने पर तत्काल साइबर हेल्पलाइन नम्बर 1930 पर शिकायत दर्ज कराने की हिदायत दी गई। महिलाओं को जागरूक करने के साथ पुलिस टीमों ने गली-मोहल्लों ,बाजारों, सडकों पर बेवजह घूम रहे लड़कों-शोहदों से पूछताछ की और बेवजह इधर-उधर न घूमनें की हिदायत दी। एसएसपी राजकरन नय्यर ने बताया कि महिला शसक्तीकरण के तहत बाल विवाह से आजादी की शपथ दिलाई गई है।  जागरूकता और हिदायत अभियान लगातार जारी है।

Advertisements

Comments are closed.