The news is by your side.

किशोरी के ब्लाइंड मर्डर में तीन गिरफ्तार

-दस दिन पूर्व घर के अंदर खून से लथपथ मिला था किशोरी का शव

मिल्कीपुर। इनायत नगर थाना के पुलिस चौकी हैरिंग्टनगंज क्षेत्र अंतर्गत रेवना पूरे विद्या पाण्डेय गांव में बीते 6 अक्टूबर को गला रेत कर 16 वर्षीय किशोरी की निर्मम हत्या किए जाने के मामले में तीन आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

Advertisements

बता दें कि इनायत नगर थाना के पुलिस चौकी हैरिंग्टनगंज क्षेत्र अंतर्गत रेवना पूरे विद्या पाण्डेय गांव में बीते 6 अक्टूबर को राम जियावन की 16 वर्षीय पुत्री पिंकी यादव का घर केअंदर खून से लथपथ शव मिलने से गांव सहित पूरे क्षेत्र में सनसनी फैल गई थी। घटना की जानकारी परिजनों तथा ग्रामीणों द्वारा पुलिस को दी गई थी।इनायत नगर पुलिस ने घटनास्थल पर पहुंचकर गहन छानबीन करते हुए किशोरी के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया था। साथ ही साथ समूचे घटनाक्रम की जानकारी प्रभारी निरीक्षक इनायत नगर अरुण प्रताप सिंह द्वारा अपने उच्चाधिकारियों को भी दी गई थी। जिस पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक राजकरन नैय्यर व पुलिस अधीक्षक ग्रामीण अतुल कुमार सोनकर भी घटनास्थल पर पहुंचकर मातहतों को कार्यवाही किए जाने का कड़ा निर्देश दिया गया था।

बता दे की किशोरी के पिता की तहरीर पर पुलिस ने हत्या सहित गंभीर धाराओं में केस दर्ज करके घटना की गहन छानबीन में जुट गई थी। वही किशोरी के शव की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने पर गला रेत कर हत्या किए जाने का मामला उजागर हुआ था। जिस पर इनायत नगर पुलिस ने मामले में तत्परता दिखाते हुए घटना में शामिल अभियुक्तों की तलाश में जुट गई थी। सोमवार को घटना में शामिल अभियुक्त लव कुश रावत पुत्र शिव प्रसाद रावत निवासी रेवना पूरे अहिरन, दीनानाथ उर्फ सरदार पुत्र मानिक लाल निवासी रेवना पूरे विश्राम दुबे सहित राहुल रावत पुत्र नन्हकू रावत रेवना पूरे अहिरन गांव निवासी की थाना क्षेत्र के धरमगंज तिराहे पर मौजूद होने की जानकारी मुखबिर द्वारा प्राप्त हुई।

इसे भी पढ़े  शिया मुसलमानों ने मनाई ईद, पेश की गई मुबारकबाद

अभियुक्तों की मौजूदगी की जानकारी मिलते ही प्रभारी निरीक्षक अरुण प्रताप सिंह, वरिष्ठ उपनिरीक्षक ब्रह्म दत्त पाण्डेय, उप निरीक्षक उमेश कुमार वर्मा, अक्षय कुमार पटेल, राजेश कुमार यादव पुलिस फोर्स के साथ धरमगंज तिराहे पर पहुंच गए और किशोरी के हत्या में शामिल तीनों अभियुक्तों को गिरफ्तार कर थाने ले आई। जहां तलाशी के दौरान उनके पास से एक मोबाइल फोन बरामद हुआ। प्रभारी निरीक्षक अरुण प्रताप सिंह द्वारा थाने में दर्ज हत्या के मामले में न्यायालय पेश किया गया जहां तीनों आरोपियों को जेल भेज दिया गया है।

 

Advertisements

Comments are closed.