समाजसेवा से बड़ा कोई कार्य नहीं : शैलेन्द्र कुमार सिंह

Advertisement

गोसाईगंज । हम मानव हैं और मानव होने के नाते हमारा पहला धर्म मानवता का परिचय देना है। लेकिन आज समाज जिस दिशा पर जा रहा है। उसको देखकर ऐसा अहसास होता है कि इंसान में इंसानियत का और आत्मियता का अभाव होता जा रहा है। लेकिन समाज के कुछ लोग ऐसे भी हैं जो समाजसेवा के माध्यम से मानवता का परिचय देते रहते हैं। साथ ही समाज के लोगों को मानवता का पाठ भी पढ़ाते हैं। यह बातें एसपी ग्रामीण शैलेंद्र कुमार सिंह ने कही।
वहीं अपर जिला अधिकारी अयोध्या संतोष सिंह ने समाजसेवी हनुमान सोनी से कहा जीवन में समाजसेवा से बड़ा कोई कार्य नहीं है। समाज के प्रत्येक नागरिक को अपने सामाजिक एवं पारिवारिक दायित्वों के साथ-साथ समाजसेवा के लिए भी समय अवश्य निकालना चाहिए। गोसाईगंज नगर के समाजसेवी आज किसी पहचान के मोहताज नहीं है। वह जो काम करते हैं शायद ही ऐसा कोई उनके जैसा काम कर पाएगा। समाजसेवी की शुरुआत उन्होंने कब और कैसे कहां से इनकी इच्छा जागृत हुई इस संबंध में जब दिनेश जायसवाल मीडिया प्रभारी गोसाईगंज समाजसेवी हनुमान सोनी से बात किया तो उन्होंने बताया कि हमें रात में जगत पिता महाकाल भोलेनाथ बाबा के कृपा से यह सारे समाजसेवा का काम हम करते हैं।
समाजसेवी हनुमान सोनी ने अपने जीवन काल में कई लड़कियों की शादी विवाह कर उसे जरूरत की सामान तक दिया है। पागल की सेवा ऐसे करते हैं जैसे मानो की अपना बेटा हो उनके ऐसे ऐसे कारनामों को देखकर गोसाईगंज नगर व आसपास के क्षेत्र के लोग दांतों तले उंगली दबाने पर मजबूर हो जाते हैं। उन्होंने नगर में एक ऐसी व्यवस्था की है अगर किसी को हार्ट अटैक का दौरा पड़ता है। तो उनके पास ऑक्सीजन के लिए एक गैस मंगा कर रखे हुए हैं। जो एक से डेढ़ घंटा तक वह काम कर सकता है। सोच तो बहुत लंबी रखे हैं। लेकिन नगर की जनता अगर उनके बारे में थोड़ा सोचती है। तो बहुत व ज्यादा सोचते हैं हर काम में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेना कहीं कोई ऐसी परिस्थिति आए जहां कोई काम नहीं आता वहां हनुमान सोनी जी आगे आकर अपने कदम सबसे पहले बढ़ाते हैं। उनकी दरियादिली ऐसी है कि अगर नगर क्षेत्र में कहीं कोई परेशान है। दवा से पीड़ित है। तो वह पीड़ित व्यक्ति कि पूरी सहायता व सुविधा जितना हो सकता है। उतना कार्य करते हैं।