The news is by your side.

नंदीग्राम महोत्सव में दिखेगी भरतजी के तप की जीवंत झलक

– नौ दिवसीय कार्यक्रम में रहेगी धार्मिक और सांस्कृतिक कार्यक्रमों की धूम


अयोध्या। भरत जी की तपोभूमि नंदीग्राम भरतकुंड पर होने वाले आगामी नौ दिवसीय नंदीग्राम महोत्सव में भरत के तप की जीवंत झलक दिखाने की तैयारी है। इसके लिए अयोध्या ही नहीं आसपास के तमाम पर्यटन केंद्रों व धार्मिक स्थलों के जाने-माने कलाकार बुलाये जा रहे हैं। अयोध्या छावनी के महंत नृत्य गोपाल दास जी के उत्तराधिकारी महंत कमल नयन दास जी की अगुवाई में बुधवार देर शाम भरतकुंड के भरत हनुमान मिलन मंदिर परिसर में संपन्न हुई।तैयारी बैठक मेंघ् यह भी निर्णय लिया गया कि इस बार विभिन्न स्कूलों के छात्र-छात्राओं द्वारा ऐसे कार्यक्रम भी प्रस्तुत किए जाएंगे जो समाज की बहू बेटियों के लिए आत्मनिर्भरता और जागरूकता की बेमिसाल नजीर होंगे। साथ ही साथ हजारों महिलाओं का दुरदुरिया पूजन, इक्कीस कुंडीय श्रीराम महायज्ञ कलश यात्रा के साथ 1100 महिलाओं द्वारा जटाकुंड, शत्रुघ्न कुंड को समेटते हुए समूचे भरतकुंड परिसर की परिक्रमा कर अयोध्या होते हुए भरत हनुमान मिलन मंदिर परिसर में प्राचीन दक्षिणमुखी भरत गुफा पर संपन्न होगी।

Advertisements

नंदीग्राम महोत्सव की तैयारी बैठक को संबोधित कर रहे महंत कमलनयन दास जी ने कहा कि प्रेम और त्याग की प्रतिमूर्ति भरत जी की तपस्या पर आधारित नंदीग्राम महोत्सव में सभी को बढ़ चढ़कर अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन करना चाहिए। ताकि समाज में धार्मिक जागरूकता का संदेश जाये। कार्यक्रम को यादगार बनाने के लिए वह हर स्तर से प्रेरणा स्रोत रहेंगे। नंदीग्राम महोत्सव कार्यक्रम की विस्तृत रूपरेखा की चर्चा करते हुए संत परमात्मा दास ने कहा कि महोत्सव में ही यहां श्री कमलनयन दास महर्षि वेद वेदांग विद्यापीठ विद्यालय शुरू करने से आसपास के दिव्यांग छात्रों का भी सर्वांगीण विकास होगा। इस वर्ष 22 अक्टूबर से 31 अक्टूबर तक चलने वाले नौ दिवसीय नंदीग्राम महोत्सव में सिर पर कलश लेकर 1100 मातृशक्तियाँ प्राचीन दक्षिण मुखी भरतगुफा नंदीग्राम से अयोध्या सरयू का जल लाने के लिए कलश यात्रा में शामिल होंगी।

इसे भी पढ़े  तुलसी स्मारक भवन का निरीक्षण करने पहुंचे निदेशक को मिली खामियां

कुशवाहा समाज द्वारा नंदीग्राम महोत्सव में ही भव्य लव और कुश की प्रतिमा की प्राण प्रतिष्ठा, श्री राम कथा, दीप महोत्सव, विराट संत समागम, अखिल भारतीय स्तर का कवि सम्मेलन, भजन संध्या और संस्कृति विभाग उत्तर प्रदेश शासन, उत्तर मध्य क्षेत्र संस्कृति केंद्र और अयोध्या शोध संस्थान द्वारा विभिन्न साँस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा। वरिष्ठ भाजपा नेता व सहकारी बैंक के चेयरमैन धर्मेंद्र प्रताप सिंह टिल्लू ने बताया कि विश्व कल्याणार्थ श्री राम चरित मानस महायज्ञ इक्कीस कुंडीय होगा। हवन पूजन महायज्ञ के साथ प्रभु श्री राम व भारत के जीवन से जुड़ी विभिन्न झांकियां आस्था का केंद्र होगी। विभिन्न सांस्कृतिक मंडलियों द्वारा रात्रिकालीन कार्यक्रमों के साथ-साथ हर रोज श्रद्धालु भरत चरित्र पर आधारित कथा का रसपान कर सकेंगे।

बैठक में भरत हनुमान मिलन मंदिर के महंत परमात्मा दास ने महंत कमलनयन दास का आरती उतार और माल्यार्पण कर स्वागत किया। उन्होंने आगंतुकों से सहयोग की अपील करते हुए कहा कि कार्यक्रम भरतजी की प्रेरणा से जुड़ा है। बैठक में नंदीग्राम महोत्सव के अध्यक्ष रमाकांत पांडेय, सुनील पाण्डेय, राकेश मिश्र, योगेश तिवारी, लक्ष्मी सिंह, सूर्यकांत पाण्डेय, पृथ्वीराज सिंह, रामप्रसाद तिवारी, सीएम यादव, हरिओम पाण्डेय, विवेक तिवारी, धर्मेंद्र वर्मा, दिनेश तिवारी, उमेश यादव, सत्येंद्र पांडेय, दिलीप तिवारी, संजय यादव, सुशील पाण्डेय, सभासद रामकरन मौर्य, प्रेम मौर्य सहित सैकड़ो लोग मौजूद रहे।

Advertisements

Comments are closed.