The news is by your side.

स्थानांतरण नीति के विरोध में मेडिकल कर्मियों ने जताया विरोध

-मांग न मानी तो 24 जून को होगा कार्य बहिष्कार

अयोध्या। चिकित्सा स्वास्थ्य महासंघ उत्तर प्रदेश के आह्वान पर अपनी मांगों और स्थानांतरण नीति के खिलाफ मंगलवार को मेडिकल कर्मियों ने बांह में काला फीता बांधकर प्रदर्शन शुरू किया है। चेतावनी दी है कि अगर संगठन की मांग पर कारवाई करते हुए स्थानांतरण नीति में बदलाव न किया गया तो 24 जून को सुबह 8 से 10 बजे के बीच कार्य बहिष्कार किया जाएगा।

Advertisements

महासंघ की मांग है कि पूर्व में हुए स्थान्तरण का स्थानांतरण भत्ता दिलाया जाय, अध्यक्ष-मंत्री को स्थानांतरण नीति से अलग रखा जाय,जिला चिकित्सालय को उच्चीकृत कर मेडिकल कॉलेज बनाए जाने पर एकतरफा कार्यमुक्त करने से समूह ख व ग के 20 व 10 फीसदी स्थानांतरण स्वत हो चुके हैं,ऐसे लोगों को पद सहित कार्यमुक्त किया जाए।साथ ही महानिदेशक की ओर से प्रमुख सचिव चिकित्सा स्वास्थ्य की बैठक स्थगित कराई जाए। मांगों पर विचार व कार्रवाई न होने पर कर्मियों ने आंदोलन का रास्ता अख्तियार किया है।

मांगों पर कारवाई को लेकर तीन दिन विरोध प्रदर्शन और फिर कार्य बहिष्कार की चेतावनी दी है।विरोध प्रदर्शन में प्रान्तीय चिकित्सा संघ , राजकीय नर्सेज संघ, राजपत्रित डिप्लोमा फार्मेसी एसोसिएशन, डिप्लोमा फार्मेसी एसोसिएशन, चतुर्थ श्रेणी राज्य कर्मचारी संघ उत्तर प्रदेश,सहायक प्रयोगशाला संघ , एक्स-रे टेक्नीशियन एशोसिएशन , टी वी कन्ट्रोल इम्प्लॉइज एशोसिएशन,ई सी जी टेक्नीशियन, इलेक्ट्रिशियन एसोसिएशन, मिनिस्ट्रीयल एशोसिएशन आदि समेत पीएमएस संघ के सचिव डॉ विपिन कुमार, डॉ आशीष श्रीवास्तव,फार्मेसिस्ट प्रवीण दुबे, हनुमंत दुबे, सर्वेश कुमार, संजय गुप्ता, स्टाफ नर्स अजय प्रताप सिंह, मंत्री पूनम गुप्ता, अध्यक्ष प्रमिला शोभा यादव आदि शामिल रहे ।

Advertisements

Comments are closed.