The news is by your side.

कृषि विवि के शैक्षिक प्रक्षेत्र को मिली बड़ी सफलता

पहली बार विश्वविद्यालय ने धान की बिक्री सरकार द्वारा निर्धारित एमएसपी पर बेचा

मिल्कीपुर- अयोध्या। आचार्य नरेंद्र देव कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय कुमारगंज अयोध्या के वर्तमान कुलपति प्रो. जे एस संधू की विश्वविद्यालय को प्रगति की ओर अग्रसर करने के साथ साथ विश्वविद्यालय को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में उठाये जा रहे कदम के परिणाम अब सामने आने लगे हैं। अब तक डीजे से इतर कृषि उत्पाद टेंडर के आधार पर औने पौने दामों पर नीलाम कर दिए जाते थे परंतु इस बार कुलपति प्रो संधू के दिशानिर्देध पर शैक्षिक प्रक्षेत्र के प्रभारी डॉ सीताराम मिश्र के प्रयास के परिणामस्वरूप पहलीबार विश्वविद्यालय ने धान की बिक्री सरकार द्वारा निर्धारित एमएसपी पर बेचा जा सका है।
इस बार शैक्षिक प्रक्षेत्र को मिली इस सफलता के बाद आगे के दिनों में अन्य परक्षेत्रों को भी इसका अनुसरण करना पड़ेगा जिसका सीधा फायदा विश्वविद्यालय के राजस्व में कई गुना वृद्धि के रूप में सामने आने की संभावना है। शैक्षणिक प्रछेत्र पर इस वर्ष धान का अनाज के रूप में उत्पादित 251 दशमलव 60 कुंतल अनाज धान के सरकारी डर 17 रूपये पचास पैसे से बेंचा गया वहीं पहली बार इस प्रक्षेत्र पर बीज उत्पादन किये जाने से 145 कुंतल धान बीज का उत्पादन किया गया है। प्रक्षेत्र प्रभारी सीताराम मिश्र ने बताया कि अनुमानित रूप से लगभग 5 लाख रूपये से ज्यादा का बीज तथा लगभग साढ़े चार लाख रूपये का धान सरकारी डर पर बेंचा गया है जो इस प्रक्षेत्र के लिए कुलपति प्रो. जे. एस. संधू के मार्गदर्शन व दिशानिर्देशों के चलते एक रिकॉर्ड है।
उन्होंने बताया कि इससे पूर्व वर्ष 2012-13में मात्र साढ़े दस, 2013-14 में 14,2014-15 मे पौने तरह,2015-16में 9 दशमलव 15,तथा 2016-17में 5 दशमलव50 कुंतल तक ही सीमित था। कुलपति प्रो जे एस संधू द्वारा विश्वविद्यालय के पास उपलब्ध भूमि का सदुपयोग होने के चलते आगामी रबी फसलों में भी रेकॉर्ड उत्पादन की संभावना है जिस पर पिछले कई दशकों से प्रश्नचिन्ह लगता रहा है।

Advertisements
Advertisements

Comments are closed.