The news is by your side.

जम्मू–कश्मीरः आतंकी हमले में CRPF के 37 जवान शहीद

पाकिस्तान से सर्वाधिक वरीयता प्राप्त राष्ट्र का दर्जा वापस 


नयी दिल्ली 15 फरवरी (वार्ता) पुलवामा में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के काफिले पर कायराना हमले के बाद भारत ने एक बड़ा कूटनीतिक कदम उठाते हुए पाकिस्तान से सर्वाधिक वरीयता प्राप्त राष्ट्र का दर्जा वापस लेने का निर्णय लिया है, साथ ही भारत पाकिस्तान को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अलग-थलग करने के लिए कूटनीतिक स्तर पर हर संभव कदम उठाएगा।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में शुक्रवार को प्रधानमंत्री आवास पर हुई सुरक्षा मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति की बैठक में ये निर्णय लिए गये। 
बैठक के बाद वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि बैठक में पुलवामा में हुई घटना के बारे में विस्तार से चर्चा की गयी। बैठक में यह निर्णय लिया गया कि इस कायराना हमले को अंजाम देने वाले और उनका समर्थन करने वालों को कड़ी सजा दी जाएगी तथा सुरक्षा बलों इसके लिए निर्देश दे दिये गये हैं।
उन्होंने कहा कि गृहमंत्री राजनाथ सिंह स्थिति का जायजा लेने के लिए जम्मू कश्मीर जा रहे हैं और शनिवार को लौटने के बाद वह राजधानी में सर्वदलीय बैठक बुलाकर सभी राजनीतिक दलों को इस घटना की जानकारी तथा स्थिति अवगत करायेंगे।

आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली जिम्मेदारी

जम्मू – कश्मीर । जम्मू एवं कश्मीर के पुलवामा में अवन्तीपुरा के गोरीपुरा इलाके में सीआरपीएफ के काफिले पर बड़ा आतंकी हमला हुआ है. हमले में सीआरपीएफके 37 जवान शहीद हो गए हैं. सीआरपीएफ काफिले पर हुए हमले में करीब 350 किलो का इस्तेमाल हुआ. आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने हमले की जिम्मेदारी ली और इसे आत्मघाती बताया. रक्षा अधिकारी ने हताहतों की संख्या बढ़ने की आशंका जताई है. उधर, पीएम नरेंद्र मोदी सहित कई राजनेताओं ने हमले की निंदा की है. रिपोर्ट के अनुसार उरी के बाद यह सबसे बड़ा आतंकी हमला है. घायलों का श्रीनगर स्थित सेना के अस्‍पताल में इलाज चल रहा है. सीआरपीएफ के जवानों को ले जा रही बस को मुख्‍य रूप से निशाना बनाया गया था. हमले में कई अन्‍य वाहन भी क्षतिग्रस्‍त हुए हैं. सेना के एक अधिकारी ने बताया कि सीआरपीएफ जवानों को निशाना बनाकर किए गए आईईडी विस्फोट की जिम्मेदारी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली है. आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने इसे आत्मघाती हमला बताया है. बता दें कि यह हमला श्रीनगर से सिर्फ 20 किलोमीटर की दूरी पर हुआ है. रक्षा राज्य मंत्री सुभाष भामरे ने कहा कि दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा. इस बीच पीएम मोदी ने राष्ट्रीय सुरक्षा सहलाहकार अजीत डोभाल से भी बात की.

साभार (NDTV)

Advertisements

उरी से बड़ा हमला

उरी के बाद यह सबसे बड़ा आतंकवादी हमला है अब तक 40 जवान इसमें शहीद हो चुके.
इसे भी पढ़े  विद्युत करंट की चपेट में आकर युवक की मौत

पुलवामा का रहने वाला है आतंकी:  PTI

जम्मू कश्मीर के पुलवामा जिले में गुरुवार को जैश-ए-मोहम्मद के एक आतंकवादी ने विस्फोटकों से लदे वाहन से सीआरपीएफ जवानों की बस को टक्कर मार दी. धमाका इतना जबरदस्त था कि बस के परखच्चे उड़ गए. न्यूज एजेंसी PTI के मुताबिक पुलिस ने आतंकी की पहचान पुलवामा के काकापोरा के रहने वाले आदिल अहमद के रूप में की है. उन्होंने बताया कि अहमद 2018 में जैश-ए-मोहम्मद में शामिल हुआ था. पुलिस ने बताया कि जैश आतंकी आदिल ने स्कॉर्पियो से सीआरपीएफ के बस में टक्कर मारी थी. आतंकी आदिल ने जिस गाड़ी से टक्कर मारी उसमें 350 किलो विस्फोटक थे.

सीआरपीएफ जवानों पर हमला “घिनौना कृत्य” :मोदी

सीआरपीएफ जवानों पर हमला “घिनौना कृत्य” :मोदी
PM MODI

नयी दिल्लीः (वार्ता) प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज जम्मू कश्मीर में पुलवामा जिले के अवंतीपाेरा में केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के जवानों के वाहन काफिले पर किए गए आतंकवादी हमले काे ‘ घिनौना कृत्य ” करार देते हुए कहा है कि शहीद जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा।
श्री मोदी ने इस कायराना हमले की जबर्दस्त निंदा करते हुए एक ट्वीट में समस्त देशवासियों से शहीद और घायल जवानों के परिजनों के लिए कंधे से कंधा मिलाकर काम करने का आग्रह किया तथा घायल जवानों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की।

Advertisements

Comments are closed.