The news is by your side.

सगा भाई ही निकाला भाई का कातिल

-शराब के नशे में डंडों से पीट पीट कर की थी भाई की निर्मम हत्या

मिल्कीपुर। इनायत नगर थाना क्षेत्र के डीली गिरधर पूरे प्रकाश गांव निवासी 38 वर्षीय अखिलेश सिंह पुत्र हरिहर सिंह सिंह की निर्मम हत्या का खुलासा इनायत नगर पुलिस ने कर दिया। पुलिस ने सगे भाई की हत्या करने वाले भयंकर शराब के नशेड़ी भाई को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है पुलिस ने गिरफ्तार किए गए हत्यारे भाई के कब्जे से हत्या में प्रयुक्त डंडा और बल्ली भी बरामद कर लिया है। बताते चलें कि पूरे प्रकाश गांव में बीते मंगलवार की दोपहर करीब 12ः30 बजे 38 वर्षीय अखिलेश सिंह का लहू लुहान शव घर में ही चारपाई पर संदिग्ध परिस्थितियों में पड़ा हुआ पाया गया था।

Advertisements

मृतक के शरीर में कई जगहों पर गंभीर चोट के निशान भी बने हुए थे। घटना की जानकारी पाकर मौके पर पहुंचे इनायत नगर थाने के प्रभारी निरीक्षक अरुण प्रताप सिंह व क्षेत्राधिकारी आशीष निगम ने घटनाक्रम की बारीकियों से निरीक्षण किया था और हुए घटना में प्रयुक्त लाठी व बल्ली को अपने कब्जे में लेते हुए मृतक अखिलेश के शव का पंचायतनामा कराने के बाद पोस्टमार्टम के लिए भेजा दिया था। पुलिस ने प्रथम प्रथम दृष्टया मृतक के छोटे नशेड़ी भाई दिनेश सिंह को तत्काल मौके से ही हिरासत में ले लिया था और कड़ी पूछताछ में जुट गई थी। घटना की जानकारी के बाद मायके से अपने घर पहुंची मृतक अखिलेश सिंह की मां मालती सिंह ने अपने सगे मंझले बेटे दिनेश सिंह के विरुद्ध मुकदमा दर्ज करने हेतु पुलिस को तहरीर दिया था। जिसके आधार पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर हिरासत में लिए गए नशेड़ी युवक से पूछताछ कि जहां युवक ने अपना जुर्म कबूल करते हुए घटना की सारी कड़ियां एक-एक कर बयां कर दी।

इसे भी पढ़े  मिलेट्स लोगों के स्वस्थ्य जीवन का आधार : प्रो. अशोक मित्तल

दिनेश सिंह से पुलिस टीम ने कड़ाई से पूछताछ की तो आरोपी दिनेश सिंह ने बताया कि हम दोनों भाईयों ने शराब पी थी और शराब के नशे में थे। किसी बात को लेकर दोनों में गाली गलौज होने लगी थी। मुझे गुस्सा आ गया तभी मैंने अपने भाई अखिलेश सिंह को लाठी व लकड़ी की बल्ली से मार दिया था, जिससे उनकी मौत हो गई। हालांकि पुलिस अपने सगे भाई को मौत के घाट उतारने वाले आरोपी दिनेश सिंह को थाना क्षेत्र स्थित सिद्ध नाथन मंदिर के पास से गिरफ्तार किए जाने का दावा कर रही है। प्रभारी निरीक्षक अरुण प्रताप सिंह ने बताया कि मृतक अखिलेश सिंह की मां की तहरीर पर सगे भाई दिनेश सिंह पर गैर इरादतन हत्या की धाराओं में मुकदमा दर्ज करते हुए न्यायालय पेश कर दिया गया जहां न्यायालय ने उसे जेल भेज दिया है।

Advertisements

Comments are closed.