एनएच 28 का रुदौली विधायक सहित अफसरों ने किया निरीक्षण

  • खामियों को जल्द से जल्द दूर करने के निर्देश

  • चोक नाला, टूटी सर्विस लेन, अवैध कट व दुर्घटना बाहुल्य एरिया चिन्हित

रुदौली-फैजाबाद। राष्ट्रीय राजमार्ग 28 फोरलेन की तकनीकी खामियों को लेकर सोमवार को रूदौली विधायक रामचंद्र यादव नवागत एस डी एम टीपी वर्मा व एनएचएआइ के सीनियर मैनेजर विनय कुमार वर्मा ,टीम लीडर शैलेन्द्र सिंह ,पेट्रोलिंग इंचार्ज गुंजन सिंह ,मेन्टेन्स इंचार्ज पी प्रसाद सहित प्रशासनिक अफसरों के साथ गहनता से निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान विधायक श्री यादव ने एन एच 28 में जगह जगह सर्विस रोड पर गढ्ढे ,नाला चोक होने से जलभराव आदि खामियों की जानकारी दी । इस मौके पर एनएचएआई के अधिकारियों ने रूदौली विधायक को सभी खामियों को जल्द से जल्द दूर कर मार्ग सुगम व सुरक्षित बनाने का आश्वाशन दिया । निरीक्षण की शुरुआत भेलसर स्थित राम नरेश होटल के पास सर्विस रोड जो बड़े बड़े गढ्ढे में तब्दील हो गई है। इसके अलावा रुदौली परिक्षेत्र में पड़ने वाले लगभग 32 किमी फोरलेन पर दर्जनों स्थानो पर दुर्घटना बाहुल्य भी चिंहित किये गए । बताते चले कि सोमवार की सुबह विधायक रामचंद्र यादव ने अफसरों के साथ लोहिया पुल से लेकर बाबा रामसनेही घाट पुल तक का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान गनौली के पास अवैध कट खुला मिला। भेलसर में सर्विस लेन में गड्ढे मिले। मखवापुर, अहिरौली, मियां का पुरवा, रानीमऊ, गनौली, जरायल कला, कूढा सादात दुर्घटना बाहुल्य जोन चिंहित किए गए। यहां पर संकेतक लगाने का निर्णय लिया गया। रानीमऊ, मवई चैराहा व भेलसर में नाले जाम मिले। नाला बनाने व सफाई कराने के साथ सर्विस लेन पर जलजमाव का स्थाई निराकरण कराने के निर्देश विधायक ने दिए। रौजागांव के प्रधान राम चन्दर यादव ने नाले की सफाई न होने से साधन सहकारी समिति में रखे अनाज व खाद बर्बाद होने की बात कही।जिस पर एनएचएआई के अफसरों ने जल्द से जल्द समस्या से निजात दिलाये जाने को कहा।इसके अलावा रौजागांव ओवरब्रिज सहित अन्य स्थानों पर लगाई गई रेलिंग टूट गई है। बरसात के कारण नेशनल हाईवे के किनारे दरक चुके हैं। मिट्टी बह चुकी है। एसडीएम ने बोरियां रखकर किनारे की मिट्टी रोकने के निर्देश दिए। इस मौके पर पटरंगा थानाध्यक्ष व्रजेश सिंह ,चैकी प्रभारी भेलसर विनोद सिंह ,निर्मल शर्मा ,वीरेंद्र शर्मा ,रामप्रताप यादव ,राजेश शर्मा सहित दर्जनों लोग मौजूद रहे ।

इसे भी पढ़े  11 स्वास्थ्य केंद्रों पर 2200 फ्रन्ट लाइन वर्कर को लगा कोविड-19 टीका

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More