अयोध्या में भाईचारा तोड़ने वाले आयोजनों पर लगे रोंक : तेजनारायण

राष्ट्रपति व राज्यपाल को सपा भेजेगी मांगपत्र

अयोध्या। रामनगरी अयोध्या में भाईचारा तोड़ने वाले आयोजनों पर सख्ती से रोंक लगायी जाय। इस सम्बन्ध में समाजवादी पार्टी का एक प्रतिनिधि मण्डल जिलाधिकारी व मण्डलायुक्त से बुधवार को मिलेगा और उन्हें मांगपत्र सौंपेगा। इसी क्रम में राष्ट्रपति व राज्यपाल को भी मांगपत्र प्रेषित कर उनसे भी साम्प्रदायिक सदभाव तोड़ने वाले कार्यक्रमों पर प्रभावी अंकुश लगाने की मांग की जायेगी। यह विचार सपा कार्यालय लोहिया भवन गुलाबबाड़ी में आयोजित पत्रकार वार्ता में सपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता व पूर्व राज्यमंत्री तेजनारायण पाण्डेय पवन ने व्यक्त किया।
उन्होंने कहा कि अयोध्या फैजाबाद सांझा नगरी निवासी सौभाग्यशाली हैं क्योंकि यह वह धरती है जो हिन्दू-मुस्लिम एकता व भाईचारे का संदेश देती है। इसी धरती पर क्रान्तिकारी अशफाक उल्ला खां को फांसी दी गयी थी यहीं हजरत शीश पैगम्बर और नौगजी मजार स्थित है जो तहजीब और सभ्यता का संदेश देती है। उन्होंने कहा कि कुछ लोग राजनीतिक स्वास्थ्यपूर्ति का अड्डा अयोध्या को बनाना चाहते हैं बीते दिनों शिवसेना और विहिप ने अपने कार्यक्रम करके यहां के लोगों को असमंजश की स्थिति में डाल दिया था अशांति की सम्भावना को देखते हुए तमाम लोगों ने एक-एक माह का राशव एकत्र कर अपने घरों में रख लिया था। अयोध्या में शांति व्यवस्था कायम रखने के नाम पर बाहर से तमाम फोर्स मंगायी गयी और विद्यालयों में पठन-पाठन बंद कर उसमें उन्हें ठहरा दिया गया। उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति और राज्यपाल से हमारी मांग है कि प्रदेश सरकार को निर्देश दें कि अयोध्या में किसी तरह का गैर परम्परागत आयोजनों पर कड़ाई से रोंक लगायें। इस मौके पर सपा महानगर अध्यक्ष मोहम्मद कमर राईन व पार्टी प्रवक्ता ओम प्रकाश ओमी भी मौजूद थे।

इसे भी पढ़े   विकलांग दंपत्ति ने एसएसपी कार्यालय पर शुरू किया आमरण अनशन

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More