The news is by your side.

इग्नू के पाठ्यक्रम उच्चस्तरीय और गुणवत्ता परकः प्रो.आरपी सिंह

इग्नू के ग्रामीण विकास पाठ्यक्रम शहरों की ओर पलायन को रोकने में मदद मिलेगी

अयोध्या। डॉ0 राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के इग्नू अध्ययन केंद्र एवं इन्दिरा गाँधी राष्ट्रीय मुक्त विवि, क्षेत्रीय केन्द्र लखनऊ तथा नेताजी सुभाष चंद्र बोस राजकीय महिला महाविद्यालय अलीगंज लखनऊ के संयुक्त संयोजन में ग्रामीण विकास पाठ्यक्रम के तहत डिप्लोमा एवं स्नातक के प्रवेशित छात्रों को ग्रामीण विकास और रोजगार विषय पर जानकारी प्रदान करने के उद्देश्य से ऑनलाइन कार्यशाला का आयोजन किया गया।

Advertisements

कार्यशाला की अध्यक्षता करते हुए उत्तर प्रदेश बाल संरक्षण आयोग के अध्यक्ष विशेष कुमार गुप्ता ने कहा कि गाँव के प्राकृतिक वातावरण में रोजगार की बड़ी सम्भावनाएँ हैं। कोविड महामारी के दौरान डिजिटल शिक्षा को बढ़ावा मिला है। अभी तक विकास की दिशा शहरोन्मुखी रही है जिसे गांवों की ओर ले जाने के लिए हम सभी कटिबद्ध हैं क्योंकि भारत गावों का कृषि प्रधान देश है। उन्होंने कहा कि आजादी के समय देश की नब्बे फीसदी आबादी गावों मे रहती थीं और आज भी सत्तर प्रतिशत भारत गावों में बसता है। इग्नू द्वारा ग्रामीण विकास का पाठ्यक्रम शुरू करने से शहरों की ओर पलायन रोकने में मदद मिलेगी। कार्यशाला के मुख्य वक्ता प्रमुख शिक्षाविद् समाजशास्त्री एवं इग्नू के स्कूल आफ कांटीनुइंग एडुकेशन के निदेशक प्रो0 आर पी सिंह ने ग्रामीण विकास से सम्बंधित इग्नू द्वारा चलाये जा रहे विभिन्न पाठ्यक्रमों की विस्तार से चर्चा की।

उन्होंने कहा कि इग्नू के पाठ्यक्रम उच्चस्तरीय और गुणवत्ता परक हैं। इसके द्वारा एमएआरडी, सीआरडी, तथा पीजीडीआरडी जैसे कोर्स जनवरी से शुरू किये गये हैं। प्रो0 सिंह ने क्षेत्रीय केन्द्र लखनऊ द्वारा किये जा रहे प्रयासों की सराहना की। इग्नू की क्षेत्रीय निदेशक डॉ0 मनोरमा सिंह ने सभी अतिथियों और प्रतिभागियों का स्वागत करते हुये कहा कि इग्नू का उद्देश्य विद्यार्थियों तक पहुँचना है। इग्नू अध्ययन केंद्र, अवध विश्वविद्यालय के समन्वयक डॉ0 हिमांशु शेखर सिंह ने ग्रामीण विकास से सम्बंधित इग्नू द्वारा चलाये जा रहे विभिन्न पाठ्यक्रमों से लाभान्वित होने के लिए छात्रों को प्रेरित किया। कार्यशाला में इग्नू क्षेत्रीय निदेशक डॉ0 कीर्ति विक्रम सिंह ने संचालन करते हुये अतिथियों का परिचय कराया तथा विद्यार्थियों के प्रश्नों का विशेषज्ञों द्वारा समाधान किया। इस अवसर पर बड़ी संख्या प्रतिभागी ऑनलाइन जुड़े रहे।

इसे भी पढ़े  कुलपति ने प्रवेश प्रक्रिया को लेकर विभागाध्यक्षों के साथ की बैठक

 

Advertisements

Comments are closed.