The news is by your side.

जीवन के मूल तत्व जल की अक्षुण स्मृति को धारण करती है होम्योपैथी : स्वामी ओमा द एक

-वाराणसी सम्मेलन में बर्नेट होम्योपैथी ने 30 चिकित्सकों का किया होम्योपैथी गौरव सम्मान

-द ग्रेट खली व नवाजुद्दीन के हाथों नवाजे गए अयोध्या के डॉ. उपेन्द्रमणि त्रिपाठी

अयोध्या। होम्योपैथी चिकित्सा पद्धति से श्रेष्ठ मानवीय सेवाओ व होम्योपैथी के प्रचार प्रसार के उत्कृष्ट योगदान हेतु डॉ नीतीश दुबे की अध्यक्षता में बर्नेट होम्योपैथी द्वारा वाराणसी के होटल ताज में आयोजित सम्मेलन में प्रदेश के तीस होम्योपैथिक चिकित्सकों को होम्योपैथी गौरव सम्मान 2023 से नवाजा। फ़िल्म अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्दीकी, रेसलर द ग्रेट खली, स्वामी ओमा द एक,और सीएमडी डॉ नीतीश दुबे द्वारा संयुक्त रूप से अयोध्या के ख्यातिलब्ध चिकित्सक डॉ उपेन्द्रमणि त्रिपाठी को होम्योपैथी गौरव सम्मान 2023 से अलंकृत किया गया, इस अवसर पर उनकी बेटी समृध्दि भी मंच पर उपस्थित रही। बता दें कि डॉ त्रिपाठी इससे पूर्व ऑटिज्म एवं होम्योपैथी विषय पर सर्वश्रेष्ठ हिंदी आलेख के लिए दुबई में अंतर्राष्ट्रीय सम्मानित हो चुके हैं। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि रहे उप्र सरकार के परिवहन मंत्री दयाशंकर सिंह ने होम्योपैथी से जुड़े अपने अनुभव साझा करते हुए प्रत्येक जनपद में होम्योपैथी चिकित्सालयों की स्थापना, समान सम्मान व अधिकारों के प्रति सरकार की प्रतिबद्धता का भी जिक्र किया। आध्यात्मिक गुरु स्वामी ओमा द एक ने भारतीय दर्शन अध्यात्म और विज्ञान की कसौटी पर कसते हुए वर्तमान मानवता के लिए होम्योपैथी को ही सबसे अनुकूल चिकित्सा पद्धति बताया और कहा यह जीवन के मूल तत्व जल की अक्षुण स्मृति को धारण करती है। इसे कैदियों, सेना, पुलिस , खेल आदि विभागों में भी समानरूप से व्यवहार में लाये जाने के आशातीत परिणाम मिल सकते हैं। होम्योपैथी चिकित्सा विकास महासंघ महासचिव डॉ उपेन्द्रमणि त्रिपाठी ने अपने सम्बोधन में कहा होम्योपैथी को जन जन तक पहुँचाने व होम्योपैथ चिकित्सकों में आत्मगौरव जागृति का प्राण प्रण से जो भगीरथ प्रयास डॉ नीतीश अपनी बर्नेट होम्योपैथी से कर रहे हैं वह तमाम संस्थाओं व सरकारी तंत्रों के लिए प्रत्यक्ष प्रमाण व चिकित्सक के सामाजिक दायित्वों के निर्वहन का एक अनुपम उदाहरण है, जिसे डॉ हैनिमैन ने मानवता के लिए प्रिसर्वर ऑफ हेल्थ कहा था। डॉ त्रिपाठी ने कहा हम सेवक हैं मानवता के सेवा धर्म हमारा है, दीन दुखी की सेवा करना निश्चित कर्म हमारा है और आह्वान किया कि ऐसे समर्पित होम्योपैथ डॉ नीतीश के अभियान जो होम्योपैथ साथियों व समाज के लिए कुछ करने का हौसला लेकर चला है, का हर सम्भव सहयोग समर्थन किया जाय। इस अवसर पर होम्योपैथी मेडिसिन बोर्ड के पूर्व चेयरमैन डॉ बी एन सिंह, पूर्व सीसीएच अध्यक्ष डॉ रामजी सिंह, पद्मश्री विभूषित चंद्रशेखर जी, डॉ एस एम सिंह, डॉ पी के शुक्ल, डॉ उमंग खन्ना, सहित 300 होम्योपैथी चिकित्सक उपस्थित रहे।

Advertisements

 

Advertisements

Comments are closed.