किसान देश की रीढ़: मनोज मिश्र

किसानों की मदद के लिये अधिकारी बने संवेदनशील
खरीफ उत्पादकता गोष्ठी व प्रदर्शनी का हुआ आयोजन

फैजाबाद। आयुक्त कार्यालय परिसर स्थिति गांधी सभागार में जनपद स्तरीय खरीफ कृषि उत्पादकता गोष्ठी आयोजित की गई है। गोष्ठी में मण्डलायुक्त मनोज मिश्र ने कहा कि किसान देश की रीढ़ है, निश्चित रूप से किसानो के उत्पादों प्रगति के प्रति हम सहयोगी भाव से चिन्तित होने से किसानो से जुड़ी सभी क्षेत्रो की बातें सकार होती देखी जा सकती है। उन्होनें किसानो से खर्चे में कमी एवं कृषि क्षेत्र में निवेश सोच-समझकर करें। अपने प्रवेश के प्रति सजग रहे सभी विभागो के अधिकारी समाचार पत्र में उनके विभाग से जुड़े समाचारों या समस्याओं को ठीक करने के लिए अपने स्तर से समय से कदम उठाये और शाम तक ही यह सुनिश्चित करें कि सम्बन्धित समस्या नियन्त्रण मे आ जाये, सभी अधिकारी संवेदनशीलता से कार्य करें। गोष्ठी को सम्बोधित करते हुये रूदौली विधायक रामचन्दर यादव ने कहा कि केन्द्र एवं राज्य की सरकारें किसानो की तरक्की एवं बेहतरी के लिए कार्य कर रही है। किसानो की आय दुगनी करने के संकल्प को सार्थक बनाने के लिए सभी विभागो के अधिकारियों को किसानो के साथ मिलकर इनकी समस्याओं का समाधान का कार्य करना होगा।
गोष्ठी में जिलाधिकारी डा0 अनिल कुमार ने कहा कि कृषि पैदावार बढ़ाने हेतु किसानों को समय से उन्नत बीज, खाद, कीटनाशक, डीजल, विद्युत एवं सिंचाई सुविधा आदि उपलब्ध कराने की पर्याप्त व्यवस्था की गई है। किसानों की आमदनी दोगुना करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है जिसके लिए सरकार द्वारा कई योजनायें प्रारम्भ की गई है। कृषि क्षेत्र में लागत घटाने और उपज का उचित और लाभकारी मूल्य दिलाने का प्रयास किया जा रहा है। मूल्य उत्पादन बढ़ाने के लिए हेल्थ कार्ड, मृदा परीक्षण योजना लाई गई है ंइसका प्रभावी क्रियावन्यन सुनिश्चित किया जाये। किसान भाई मेड़ पर पेड़ लगाने की योजना के माध्यम से कृषि वानिकी योजना से अतिरिक्त लाभ अर्जित कर सकते है। किसानो को फसल नुकसान के जोखिम से बचाने के लिए प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की शुरूआत की गई है। इसमें कृषकों को कम प्रीमियम पर विशेष रियायतें दी गई है। सिचांई में कम पानी के उपयोग हेतु इरिगेशन पर बल दिया जाये।
खेती से आय बढ़ाने के लिए किसान भाई परंपरागत गेहूँ, चावल आदि दुग्ध उत्पादन, बागवानी सब्जी, अड़ा व मछली उत्पादन आदि कार्यो में भी आगे आये, इससे उन्हें बारहों महीने किसी न किसी कार्य से आमदनी होती रहेगी और वह आर्थिक रूप से सशक्त बनेगें। कृषि विशेषज्ञों व प्रगतिशील कृषकों की सलाह से आलू, प्याज व अन्य सब्जियों के उन्नत शील प्रजातियों के बीजों का रोपण करें। गोष्ठी में नर्सरी से लेकर खरपरवारों एवं कीटो का प्रबन्धन, खेत की तैयार, रोपने का तरीका और भंडारण आदि के बारे में भी विस्तार से बताया गया। उन्होने कहा कि किसान भाई अपने किसान क्रेडिट कार्ड अवश्य बनवा लें, जिस कृषक भाई के पास किसान क्रेडिट कार्ड है उन्हे नवीनीकरण करवाना जरूरी है। गोष्ठी में उप निदेशक कृषि ने उपस्थित कृषि विज्ञानिकों एवं कृषि अधिकारियों के द्वारा किसानो के उठाये गये समस्याओं का समाधान किया गया। गोष्ठी में कृषि से सम्बन्धित वर्तमान सरकार द्वारा चलाई जा रही प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना, राष्ट्रीय कृषि विकास योजना, पालीहाउस योजना, मछुआ दुर्घटना बीमा योजना एवं मछुआ आवास योजना, राष्ट्रीय औषधि, पौध मिशन आदि के बारे विस्तार से जानकारी दी गयी। इस अवसर पर विधायक रामचन्दर यादव एवं मण्डलायुक्त मनोज मिश्र द्वारा राम प्रताप, मुन्ना लाल एवं श्री कृष्णदास को बैंक आॅफ बड़ौदा की तरफ से रूपे कार्ड भी वितरित किया गया।
जिलाधिकारी ने बताया कि कृषकों के अनुभव को आपके मध्य साझा करने/पहुंचाने के लिये ही किसान गोष्ठी का आयोजन समय-समय पर किया जाता है जिससे आप भी उन अनुभवों के माध्यम से अच्छी फसल पैदा कर लाभान्वित हो सके। उन्होने ंकहा कि समय-समय पर ब्लाक स्तर पर भी कृषि गोष्ठियां आयोजित की जाती रहे है। जिससें कृषक अपनी समस्याओं को व्यक्त कर उनका समाधान पा सके।
गोष्ठी में मुख्य विकास अधिकारी अक्षय त्रिपाठी, संयुक्त कृषि निदेशक, उपनिदेशक कृषि सैय्यद बदरे आलम, जिला उद्यान अधिकारी, जिला पशुधन अधिकारी, जिला मत्स्य अधिकारी, मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी व कृषक उपस्थित थे।

इसे भी पढ़े  श्रीराम जन्मभूमि मन्दिर निर्माण निधि समर्पण अभियान का हुआ शुभारम्भ

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More