The news is by your side.

निवेशक शिखर सम्मेलन का आयोजन कर निवेशकों को करें प्रोत्साहित : गौरव दयाल

-जिलाधिकारियों के साथ मण्डलायुक्त ने की समीक्षा बैठक

अयोध्या। मण्डलायुक्त गौरव दयाल की अध्यक्षता में शासन के महत्वपूर्ण प्राथमिकता कार्यक्रमों की माह दिसम्बर 2022 की प्रगति रिपोर्ट पर मण्डलीय समीक्षा बैठक का आयोजन कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में मण्डल के सभी जिलाधिकारियों, मुख्य विकास अधिकारियों एवं मण्डलीय अधिकारियों के साथ आयोजित की गयी। सर्वप्रथम मण्डलायुक्त ने मण्डल के अधिकारियों एवं उद्योग विभाग के अधिकारियों को निवेशक शिखर सम्मेलन का आयोजन कर जनपद में अधिक से अधिक निवेशकों को प्रोत्साहित कर निवेश को बढ़ावा दें तथा निर्माण कार्यो को गुणवत्ता के साथ पूर्ण करने के निर्देश दिये।

Advertisements

स्वास्थ्य विभाग के कार्यो की समीक्षा करते हुये कहा कि आयुष्मान गोल्डेन कार्ड सभी जिलों में पात्रो के शत प्रतिशत बनाये जायें तथा स्वास्थ्य विभाग के अन्तर्गत निर्माणाधीन कार्यो के सम्बंध में उन्होंने कहा कि जो कार्य अधूरे है उन्हें पूरी गुणवत्ता के साथ समय पर पूर्ण करे तथा सभी जिलाधिकारी जनपदों में बनाये जा रहे हेल्थ एण्ड वेलनेस सेन्टर में उपलब्ध सुविधाओं की चेकलिस्ट बनाकर उनकी जांच कराकर यह सुनिश्चित कर लें कि सभी सुविधायें आम जनमानस को प्राप्त हो रही है। जनपद अयोध्या में रेडियोलॉजिस्ट के रिटायर होने के पश्चात सिटी स्कैन का कार्य बाधित न हों इसके लिए रेडियोलॉजिस्ट तैनात किये जाने हेतु शासन को तत्काल पत्र भेजकर तैनाती करायी जाय। उन्होंने आईजीआरएस के माध्यम से प्राप्त शिकायती प्रार्थना पत्रों के सम्बंध में सभी अधिकारियों को निर्देश दिया कि निर्धारित समय सीमा के अन्तर्गत सभी प्राप्त शिकायतों का गुणवत्ता पूर्ण निस्तारण किया जाय।

मण्डलायुक्त ने सरकारी कार्यालयों में विद्युत देयों की वसूली के सम्बंध में कहा कि सभी विभागीय कार्यालयों के बिल समय से निर्गत कर दिये जाय तथा वे कार्यालय अपने प्राप्त बिल को समय सीमा के अन्दर ही मुख्यालय भेजकर उसका भुगतान करायें। कृषि विभाग के कार्यो की समीक्षा करते हुये कहा कि अतिवृष्टि से प्रभावित कृषकों को फसल बीमा योजना का लाभ हर हाल में दिया जाय। उन्होंने पंचायती राज विभाग के द्वारा कराये जा रहे कार्यो यथा-सामुदायिक शौचालय कायाकल्प, प्रधानमंत्री आवास ग्रामीण, मनरेगा की समीक्षा की। खाद्य एवं रसद विभाग के कार्यो की समीक्षा की। उन्होंने शासन द्वारा संचालित कन्या सुमंगला योजना के प्रगति की भी समीक्षा करते हुये कहा कि इस योजना की नियमित समीक्षा की जाय इस योजना से जुड़े सभी विभाग आपसी समन्वय के साथ कार्य कर शत प्रतिशत पात्रों को योजना का लाभ दिलायें।

इसे भी पढ़े  बड़े भाई की हत्या में दो भाई सहित पिता के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज

वृद्वावस्था पेंशन, दिव्यांग पेंशन, निराश्रित पेंशन के लाभार्थियों के आधार सीडिंग के कार्य के प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने पशुधन विभाग के कार्यो की समीक्षा करते हुये कहा कि शासन द्वारा यह निर्देश दिये गये है कि 31 मार्च 2023 तक छुट्टा गौवंश से मुक्त करना है इसलिए सभी सम्बंधित अधिकारी प्राथमिकता पर छुट्टा गौवंशों को पकड़कर गौ-आश्रय स्थलों में पहुंचायें तथा वर्तमान में भीषण ठंडी के दृष्टिगत निराश्रित गौ-आश्रय स्थलों की समुचित व्यवस्था करायें। मण्डलायुक्त ने नगर विकास के कार्यो की समीक्षा करते हुये कहा कि शहर में सीवर लाइन डालने हेतु जो भी सड़के खोदी जाय उनकी खुदाई मशीन के साथ एक सीध रेखा में सफाई के साथ की जाय, कहीं भी टेढ़ी मेढ़ी खुदाई न की जाय। सीवर लाइन डालने के पश्चात उनकी मरम्मत भी बेहतर ढंग से की जाय।

उद्यान विभाग के कार्यो की समीक्षा करते हुये उन्होंने कहा कि अयोध्या धाम में तुलसी उद्यान का किसी अच्छे आर्किटेक्ट से सलाह लेकर उसका बेहतर सौन्दर्यीकरण कराकर विश्व स्तरीय उद्यान बनाने की योजना बनायें। अन्त में मण्डलायुक्त ने सभी जिलाधिकारियों से कहा कि जनपद में निर्माणाधीन प्रमुख भवनों व सड़कों का स्वयं निरीक्षण कर निर्माण कार्य बेहतर फिनीसिंग तथा अच्छे शिल्पकर्म (वर्कमेनशिप) से कराये। मण्डलायुक्त ने समीक्षा के दौरान सड़क एवं सेतु निर्माण, प्रधानमंत्री आवास योजना, प्रधानमंत्री रोजगार सृजन योजना सहित शासन की अन्य महत्वपूर्ण योजनाओं की संक्षिप्त समीक्षा की गयी।

संयुक्त विकास आयुक्त अरविन्द चन्द्र जैन द्वारा शासन के प्रारूपों के आधार पर बिन्दुवार विवरण प्रस्तुत किया गया। मण्डलायुक्त ने विकास कार्यो की समीक्षा के पश्चात राजस्व कार्यक्रमों की समीक्षा राजस्व विभाग के अधिकारियों के साथ की गयी। इस अवसर पर जिलाधिकारी अयोध्या नितीश कुमार, जिलाधिकारी बाराबंकी अविनाश कुमार, जिलाधिकारी सुल्तानपुर रवीश गुप्ता, जिलाधिकारी अमेठी राकेश कुमार मिश्र, जिलाधिकारी अम्बेडकरनगर में सैमुअल पाल, मुख्य विकास अधिकारी अयोध्या, मुख्य विकास अधिकारी बाराबंकी, मुख्य विकास अधिकारी सुल्तानपुर, मुख्य विकास अधिकारी अमेठी आदि के अतिरिक्त मण्डलीय अधीक्षण अभियन्ता गण, अपर निदेशक, संयुक्त निदेशक, उप निदेशक सूचना, उप निदेशक अर्थ एवं संख्या एवं अन्य सहायक निदेशक गण व मण्डल स्तरीय अधिकारी एवं सम्बंधित विभाग के प्रतिनिधियों आदि ने भाग लिया।

Advertisements

Comments are closed.