in

बिजली कर्मचारियों व अभियंताओं किया कार्य बहिष्कार

अयोध्या। इलेक्ट्रिसिटी (अमेण्डमेन्ट) बिल 2018 व निजीकरण के विरोध में तथा पुरानी पेन्शन प्रणाली लागू कराने हेतु बिजली कर्मचारियों व अभियन्ताओं का दो दिवसीय कार्य बहिष्कार किया नेशनल कोऑर्डिनेशन कमेटी ऑफ इलेक्ट्रिसिटी इम्प्लॉइज एवं इंजीनियर्स (एन सी सी ओ ई ई ई) के आह्वान पर आज देश भर में बिजली कर्मचारियों व अभियन्ताओं ने दो दिवसीय कार्य बहिष्कार किया।
दो दिन के कार्य बहिष्कार की सफलता के बाद एन सी सी ओ ई ई ई ने चेतावनी दी है कि यदि इलेक्ट्रसिटी (अमेण्डमेन्ट) बिल 2018 वापस न लिया गया, राज्यों में बिजली कम्पनियों का एकीकरण कर राज्य विद्युत परिषद निगम लि का गठन न किया गया, पुरानी पेन्शन बहाल न की गयी और संविदा कर्मियों को नियमित न किया गया तो नेशनल कोऑर्डिनेशन कमेटी ऑफ इलेक्ट्रिसिटी इम्प्लॉइज एवं इंजीनियर्स (एन सी सी ओ ई ई ई) लोक सभा चुनाव के पहले अनिश्चितकालीन हड़ताल की नोटिस देने हेतु बाध्य होगा जिसकी सारी जिम्मेदारी केन्द्र व राज्य सरकारों की होगी।
संघर्ष समिति के पदाधिकारियों ने बताया कि बिजली संविधान में समवर्ती सूची में है और राज्य का विषय है। नये संशोधन के बाद बिजली आपूर्ति में केन्द्र की सीधी दखलंदाजी होगी जो राज्यों के अधिकार क्षेत्र का हनन है। इस प्रकार नया संशोधन राज्यों के हितों के विपरीत है। संघर्ष समिति ने प्रदेश के सभी ऊर्जा निगमों को तमाम बिजली कर्मचारियों और अभियन्ताओं को दो दिन के शानदार कार्य बहिष्कार के लिए बधाई देते हुए आह्वान किया है कि बिजली कर्मी अनिश्चितकालीन हड़ताल की तैयारी में जुट जायें। सभा को मुख्यतया मुख्यतया इं0 डी0सी0 दीक्षित, इं0 मनोज कुमार इं0 पंकज तिवारी, इं0 अभय चौबे, इं0 रोहित सिंह, इं0 अमरीश कुमार शुक्ला, रघुवंश मिश्रा, इरशाद अली, नूरूलहक, अनुवारूलहक, सरताज अली, मुनीर आबदी, विजय प्रताप सिंह, समर श्रीवास्तव आदि ने सम्बोधित किया।

What do you think?

Written by Next Khabar Team

दिल के लिए लाभकारी कड़कनाथ मुर्गा : डा. रविंद्र कुमार

भाजपा सरकार में सबसे ज्यादा किसान तबाह : पटेल