The news is by your side.

संपूर्ण समाधान दिवस में डीएम-एसएसपी ने सुनी फरियाद

-इनायत नगर के लेखपाल को तत्काल हटाए जाने के लिए आदेश, इनायत नगर गांव में सरकारी भूमि पर हो रहे अवैध कब्जे पर डीएम ने एसडीएम से मांगी रिपोर्ट

मिल्कीपुर। जिलाधिकारी की अध्यक्षता में मिल्कीपुर तहसील सभागार में सम्पूर्ण समाधान का आयोजन किया गया। समाधान दिवस क्षेत्र से 218 फरियादियों ने अपनी शिकायतें पेश किए जिनमें से 3 मामलों का निस्तारण तत्काल मौके पर ही जिलाधिकारी द्वारा करा दिया गया। समाधान दिवस में मौजूद अधिकारियों से डीएम नीतीश कुमार ने कहा कि जनता की समस्याओं को गंभीरता से सुना जाए, उनकी समस्याओं का तत्काल गुणवत्ता के साथ निस्तारण भी किया जाए। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मुनिराज जी ने भी सर्किल के सभी थाना प्रभारियों को निर्देश दिया कि शिकायतों के निस्तारण में किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरती जाए।

Advertisements

समाधान दिवस में ग्राम प्रधान सिधौना उमा सिंह ने अपनी ग्राम पंचायत स्थित प्राथमिक विद्यालय बसापुर में ग्राम शिक्षा समिति मध्यान भोजन समिति एवं विद्यालय प्रबंध समिति का गठन न किए जाने की शिकायत की हालांकि जिलाधिकारी तक शिकायत पहुंचने से पहले ही जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने ग्राम प्रधान से शिकायत स्वयं प्राप्त करते हुए जांच में दोषी पाए जाने पर प्रधानाध्यापक के खिलाफ निलंबन से सेवा समाप्ति तक की कार्यवाही किए जाने की बात कही। खंडासा थाना क्षेत्र के घटौली गांव से अगवा की गई नाबालिग बालिका के मामले में आरोपियों के कब्जे से बालिका को बरामद करते हुए उन्हें थाने लाने के बावजूद भी ससम्मान छोड़े जाने का मामला पेश हुआ पीड़ित नाबालिग बालिका के पिता की शिकायत पर एसएसपी मुनिराज ने थानाध्यक्ष खंडासा को तलब कर जमकर फटकार लगाई और आरोपियों की गिरफ्तारी किए जाने के आदेश दिए।

इसे भी पढ़े  शॉर्ट-सर्किट से गेहूं के खेत में लगी आग, 16 बीघा फसल जलकर राख

ग्राम प्रधान इनायत नगर रेनू यादव के नेतृत्व में दो दर्जन ग्रामीणों ने संयुक्त हस्ताक्षरित शिकायती प्रार्थना पत्र देकर गांव की बेशकीमती भूमि पर एक शिक्षक शिवराज यादव द्वारा किए जा रहे अवैध कब्जे को रोकवाते हुए क्षेत्रीय लेखपाल को भी तत्काल हटाने की मांग की। जिस पर जिलाधिकारी ने एसडीएम को पूरे प्रकरण की जांच सौंप दी है और उनसे रिपोर्ट मांगी है। जिलाधिकारी ने इनायत नगर के लेखपाल बलदेव तिवारी के खिलाफ लगातार आ रही शिकायतों को लेकर कड़ा रुख अख्तियार करते हुए उन्हें तत्काल हटाए जाने के आदेश एसडीएम को दे दिए हैं। पाराधमथुआ गांव निवासी आदित्य प्रताप शर्मा ने प्रार्थना पत्र दिया कि पूर्व प्रधान गायत्री देवी द्वारा स्ट्रीट लाइट में धांधली की जांच कराने के लिए कई प्रार्थना पत्र दिया लेकिन कोई कार्यवाही नहीं हुई।

डीएम ने डीपीआरओ को जांच कर आवश्यक कार्यवाही करने का निर्देश दिया है। दसौली गांव निवासी अवधेश पांडे ने सीएचसी मिल्कीपुर डॉक्टर/ अधीक्षक द्वारा इलाज में घोर लापरवाही व मरीजों के साथ अभद्र व्यवहार करते हुए अस्पताल से बाहर की दवा धड़ल्ले से लेकर जाने का आरोप लगाया और बताया कि सीएचसी अधीक्षक 10 वर्ष से अस्पताल में ही जमे हैं। जिलाधिकारी ने सीएमओ को जांच कर कार्यवाही करने का निर्देश दिए हैं। समाधान दिवस में जब किसानों ने शिकायती प्रार्थना पत्र छुट्टे मवेशियों के संबंध में दिया तो जिलाधिकारी ने एसडीएम को निर्देशित किया कि जल्द से जल्द चिन्हित स्थानों पर गौशालाओं का निर्माण कराकर छुट्टे मवेशियों को पकड़वाया जाए।

समाधान दिवस समाप्त होने से 50 मिनट पूर्व जिलाधिकारी एवं एसएसपी के चले जाने के बाद समाधान दिवस में रामराज्य छा गया और दर्जनों फरियादी जिलाधिकारी और एसएसपी से मिलकर अपनी शिकायत करने को लेकर मायूस नजर आए। समाधान दिवस में राजस्व एवं विकास विभाग सहित पुलिस विभाग से शिकायतें भारी संख्या में प्रस्तुत हुई। समाधान दिवस में मुख्य चिकित्सा अधिकारी अजय राजा, उपनिदेशक कृषि संजय त्रिपाठी, एसडीएम अमित जायसवाल, तहसीलदार हेमंत गुप्ता, क्षेत्राधिकारी आसुतोष मिश्रा, वन क्षेत्राधिकारी पी के श्रीवास्तव, निरीक्षक मुईद खान, खंड शिक्षा अधिकारी मिल्कीपुर रिचा सिंह, तीनों विकासखंड के बीडीओ, उपखंड अधिकारी मिल्कीपुर अमित कुमार सहित सभी अधिकारीगण मौजूद रहे।

इसे भी पढ़े  बाबा साहब के जीवन वृत्त से सीखने का करें प्रयास : नितीश कुमार

 

Advertisements

Comments are closed.