The news is by your side.

डीएम ने किया परिषदीय विद्यालयों का निरीक्षण

परिषदीय विद्यालयों में पठन-पाठन का सुधारा जाय स्तर : अनुज कुमार झा

पहाड़ा व अतिविशिष्ट व्यक्तियों के नाम नहीं बता सके बच्चे

अयोध्या। जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने आज अपरान्ह में नगर क्षेत्र के प्राथमिक विद्यालय सहादतगंज-प्रथम एवं द्वितीय तथा पूर्व माध्यमिक विद्यालय सहादतगंज तथा प्राथमिक विद्यालय, मुमताजनगर एवं पूर्व माध्यमिक विद्यालय, मुमताजनगर का आकस्मिक निरीक्षण किया।
नगर क्षेत्र के विद्यालयों के निरीक्षण में सामान्य रूप से पाया गया कि नामांकित छात्रों की तुलना में उपस्थिति काफी कम रही। विद्यालय के कुछ बच्चें पूरे ड्रेस में नहीं थे जबकि कुछ ने ड्रेस ही नहीं पहन रखा था। शैक्षिक स्तर का परीक्षण करने के लिए बच्चों से पहाड़ा सुना तथा कुछ अतिविशिष्ट व्यक्तियों के नाम तथा सामान्य ज्ञान से सम्बन्धित कुछ प्रश्न पूछे गये, परन्तु कोई भी छात्र/छात्रा उनका उत्तर नहीं दे सका। विद्यालय परिसर तथा शौचालय की साफ-सफाई ठीक नही थी। मध्यान्ह भोजन में प्रयोग किये जाने वाले मसाले डिब्बों में रखे गये थे, कुछ खाली पैकेट देखे गये जिन पर निर्माण एवं उनकी समाप्ति की तिथि आदि का अंकन नही था। ऐसा प्रतीत होता है कि विद्यालय में कार्यरत अध्यापकों/शिक्षा मित्रों द्वारा इस ओर कोई विशेष ध्यान नहीं दिया जाता है। जिलाधिकारी ने शौचालय व विद्यालय प्रांगण की साफ-सफाई ठीक करने तथा बच्चों को स्वच्छता व विद्यालय यूनीफार्म में आने के लिये प्रोत्साहित करने के निर्देश दिये।
प्राथमिक विद्यालय, मुमताजनगर एवं पूर्व माध्यमिक विद्यालय मुमताजनगर के आकस्मिक निरीक्षण के दौरान छात्र/छात्राओं को मध्यान्ह भोजन वितरित किया जा रहा था। यहां के बच्चे पूरी तरह ड्रेस में थे तथा परिसर पूरी तरह स्वच्छ था। प्रथम दृष्ट्या यहां का शैक्षिक स्तर अच्छा पाया गया। प्राथमिक विद्यालय की प्रधानाध्यापिका मंजू शुक्ला ने बताया कि विद्यालय में नामांकित 299 छात्र/छात्राओं में से निरीक्षण के समय 206 उपस्थित थे। यह भी बताया कि एक अध्यापक सदक-ए-हुसैन को प्रशिक्षण देने हेतु जिला शिक्षण एवं प्रशिक्षण संस्थान अयोध्या से सम्बद्ध कर दिये जाने से शिक्षण कार्य प्रभावित हो रहा है। उनके द्वारा श्री हुसैन को विद्यालय हेतु कार्यमुक्त किये जाने का अनुरोध किया गया।
जिलाधिकारी ने निर्देशित किया कि जनपद के सभी प्राथमिक एवं पूर्व माध्यमिक विद्यालयों में अध्यापक-अध्यापिकाओं, शिक्षामित्रों/अनुदेशकों की समय से पूर्ण अवधि तक विद्यालय में उपस्थिति सुनिश्चित कराने शैक्षिक स्तर, बच्चां की उपस्थिति में आपेक्षित सुधार लाने, शौचालयों की साफ-सफाई सुनिश्चित करने के साथ-साथ विद्यालय की प्रांगण की साफ-सफाई व्यवस्था तथा मीनू के अनुसार गुणवत्तायुक्त मध्यान्ह भोजन का बच्चों में वितरण कराया जाना सुनिश्चित करें। इसके साथ ही श्री सदक-ए-हुसैन को भी जिला शिक्षण एवं प्रशिक्षण संस्थान से उनके विद्यालय हेतु तत्काल कार्यमुक्त करायें।

Advertisements

निराश्रित व बेसहारा गोवंश का किया जाय बेहतर संरक्षण :डीएम

अयोध्या। जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने जनपद के विभिन्न तहसीलों व ब्लाकों में निराश्रित व बेसहारा गोवंश के बेहतर संरक्षण व रख-रखाव के निर्देश सम्बन्धित अधिकारियों व उन ग्राम पंचायतों के ग्राम प्रधानों को दिए। उन्होनें सभी गौशालाओं में पशुओं के पीने के लिए पानी हेतु सबमर्सिबल पम्प व तालाब आदि से यह व्यवस्था सुनिश्चित करने को कहा। जहां सबमर्सिबल पम्प में विद्युत कनेक्शन नहीं है वहां कनेक्शन कराने के लिए सम्बन्धित बीडीओ धनराशि विद्युत विभाग को यथाशीघ्र उपलब्ध कराये तथा प्रयास कर विद्युत कनेक्शन कराना सुनिश्चित कराये जिससे ग्रीष्म ऋतु में पशुओं को किसी प्रकार पीने के पानी की दिक्कत न हो, जहां विद्युत कनेक्शन कराना सम्भव न हो और पास में कोई राजकीय नलकूप भी न हो वहां पानी हेतु सोलर पम्प लगवाना सुनिश्चित किया जाये। उन्होनें कहा कि पशुपालक अपने पालतू पशुओं को खुला न छोड़े ऐसा करने वाले पशुपालक के विरूद्ध कार्यवाही की जायेगी।
जिलाधिकारी ने कहा कि पशुओं को पुआल, भूसा आदि चारे के रूप में उपलब्ध कराना सुनिश्चित किया जाये। मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डा0 ए0के0 श्रीवास्तव ने बताया कि सभी ब्लाकों को पशुओं के भरण-पोषण हेतु धनराशि उपलब्ध करायी गई है यदि उन्हें और धनराशि की आवश्यकता है तो वे उपलब्ध करायी गई धनराशि का व्यय विवरण व नयी मांग प्रेषित करें जिससे उन्हें और धनराशि उपलब्ध करायी जा सके। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी अभिषेक आनन्द ने गोवंश संरक्षण योजना के बारे में विस्तार से जानकारी दी। बैठक में डीसी मनरेगा समेत सभी सम्बन्धित एसडीएम व बीडीओ उपस्थित थे।

Advertisements

Comments are closed.