The news is by your side.

विद्युत कर्मचारी समिति सम्मेलन में राष्ट्रव्यापी हड़ताल पर हुई चर्चा

8 व 9 जनवरी की हड़ताल में शामिल होंगे विद्युत अभियंता व कर्मचारी

अयोध्या। विद्युत कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति का सम्मेलन हुआ जिसमें आगामी 8 व 9 जनवरी को होने वाले राष्ट्रव्यापी हड़ताल में शामिल होने का निर्णय लिया गया। सम्मेलन में पारित प्रस्ताव में कहा गया कि इलेक्ट्रसिटी बिल 2018 निजीकरण और पुरानी पेंशन लागू कराने आदि की मांग को लेकर विद्युत कर्मचारी व अभियंता आन्दोलन में शामिल होंगे।
वक्ताओं ने कहा कि प्रांतीय सम्मेलन में मुख्य रूप से 6 मांगो पर हड़ताल करने का निर्णय लिया गया था। इन सभी मांगो को लेकर आन्दोलन तबतक जारी रहेगा जबतक जायज मांगे पूरी नहीं की जातीं। वक्ताओं ने कहा कि राज्य सरकार विद्युत पारेषण व वितरण का नेटवर्क बनाने जा रही है जिसके द्वारा विद्युत आपूर्ति कर निजी कम्पनियों को मालामाल किया जायेगा। निश्चित है कि उपभोक्ताओं पर आर्थिक बोझ बढ़ेगा। इस संशोधन के बाद उत्तर प्रदेश में किसान और आम उपभोक्ताओं को 10 रूपये प्रति यूनिट से कम पर बिजली नहीं मिलेगी जिसका सीधा असर गरीब उपभोक्ताओं पर पड़ेगा। इन्हीं सब मुद्दों को लेकर राष्ट्रव्यापी आन्दोलन की रणनीति बनायी गयी है। सम्मेलन को इं. शैलेन्द्र दूबे, इं. राजीव सिंह, इं. डी.सी. दीक्षित, इं. पंकज तिवारी, इं. अभय चौबे, सुहेल आबिद, केशर सिंह रावत, मुनीर आब्दी, जय गोविन्द सिंह, आनन्द पाण्डेय, ए.के. रघुवंशी, शिवम श्रीवास्तव, रामचन्द्र सेन, सिरताज अली आदि ने सम्बोधित किया।

Advertisements
Advertisements
इसे भी पढ़े  कार्यकाल के तीन वर्ष पूर्ण होने पर जिला पंचायत अध्यक्ष ने गिनाई उपलब्धियां

Comments are closed.