The news is by your side.

जिला अस्पताल में पीपीपी माडल पर शुरू हुआ सीटी स्कैन

-पहले दिन 5 माह के बच्चे के बाद महिला का हुआ परीक्षण,प्रभारी के साथ 6 का स्टाफ तैनात

अयोध्या। लभगभ छह वर्ष से ज्यादा समय से सीटी स्कैन सुविधा की बहाली का इंतजार कर रहे मरीजों का इंतजार संविधान निर्माता बाबा साहब आन्बेडकर की जयंती पर खत्म हो गया। प्रदेश सरकार के सौजन्य से जिला अस्पताल में पीपीपी मॉडल पर सीटी स्कैन सुविधा की शुरुआत 5 माह के बच्चे अंशुमान के परीक्षण से हुई। इसके बाद इनायतनगर के खिहारन बारुन निवासी 34 वर्षीय कुसुम का सीटी स्कैन हुआ। सीएमएस ने जायजा भी लिया।

Advertisements

अनुबंधित फर्म ने सीटी स्कैन सेवा उपलब्ध कराने के लिये केन्द्र प्रभारी आशीष राय के साथ दो-दो तकनीशियन व स्टाफ नर्स के साथ एक सफाई कर्मचारी की तैनाती की है। मशीन युनिट का इंस्टॉलेशन,सूचना प्रदर्शिका आदि लगाने समेत सभी आवश्यक तैयारियां कई दिन पूर्व ही कर ली गई थी।

प्रदेश सरकार के निर्देश पर स्वास्थ्य विभाग की ओर से महिला अस्पताल स्थित क्षेत्रीय निदान केंद्र में स्थापित कराई गई सीटी स्कैन मशीन अप्रैल 2017 में खराब हो गई थी, तभी से मरीजों, तीमारदारों, सामाजिक संस्थाओं तथा जनप्रतिनिधियों की ओर से मंत्री से लेकर मुख्यमंत्री तक सीटी स्कैन सुविधा बहाल कराने की मांग उठती रही। प्रदेश सरकार की ओर से पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप (पीपीपी) के तहत मरीजों को मुख्यालय पर सीटी स्कैन की सुविधा उपलब्ध कराने के लिए डायग्नोस्टिक कंपनी क्रेसना से अनुबंध किया था।

क्रेसना कंपनी की ओर से केंद्र के संचालन के लिए सीटी स्कैन मशीन की पूरी यूनिट 30 जनवरी को जिला अस्पताल को भेजी गई। कंपनी ने अस्पताल प्रबंधन की ओर से हृदय रोग वार्ड के पास आवंटित कक्ष में इसको स्थापित करवा प्रदर्शिका बोर्ड आदि भी लगवाने का काम  पूरा कर लिया था। शुक्रवार को सेवा का संचालन इसी कंपनी के कर्मियों की ओर से शुरू कर दिया गया।

इसे भी पढ़े  डॉ. अम्बेडकर का व्यक्तित्व अत्यंत विराट व बहु-आयामी : प्रो. मनोज अग्रवाल

कंपनी के केन्द्र प्रभारी आशीष राय ने बताया कि सभी मरीजों का सीटी स्कैन निशुल्क किया जाएगा और सामान्य रोगियों के लिए यह सुविधा रविवार व राजपत्रित अवकाश को छोड़ सुबह 8 से शाम 6 बजे तक उपलब्ध रहेगी तथा रिपोर्ट 6 घंटे में उपलब्ध कराई जाएगी। वहीं आपातकालीन सेवा रोजाना जारी रहेगी और रिपोर्ट दो घंटे के भीतर उपलब्ध होगी। आपात सेवा के लिये उनको फोनकर सेवा हासिल की जा सकती है।

जिला अस्पताल के प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डॉ. सीबीएन त्रिपाठी ने बताया कि पुर्वान्ह 11 बजे वह डायग्नोस्टिक कंपनी ओर से संचालित केन्द्र गये थे। यूनिट प्रभारी ने पहले दिन दो सीटी स्कैन किये जाने की जानकारी दी है।

Advertisements

Comments are closed.