मशावर्ती काउंसिल की हुई बैठक

अयोध्या। मौलाना बादशाह सदस्य मशावर्ती काउंसिल के मुगलपुरा आवास पर पूर्व कैबनेट मंत्री जौहर यूनिर्वसिटी के चाँसलर द्वारा गठित मशावर्ती काउंसिल की बैठक मशावर्ती काउंसिल के सदस्य शादाब खाँ की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई बैठक का संचालन शमशुल शेख ने किया बैठक को संबोधित करते हुये शादाब खाँ पाँच राज्यों में हुये चुनाव के नतीजों पर सन्तोष व्यक्त किया और तमाम सिक्यूलर व अर्धसिक्यूलर दलों द्वारा मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में अपने-अपने अलग-अलग प्रत्याशी उतार कर बड़ी जीत को कम करने का कार्य किया जो जीत मिलनी चाहिए थी, उसमे कमी रह गई मशावर्ती काउंसिल आने वाले समय में देश के चुनाव में सभी धर्म निरपेक्ष दलों से यह मांग की गई कि सभी दल एक जुट होकर साम्प्रदायिक शक्तियों का मुकाबला करते हुये देश की गंगा, जमुनी तहज़ीब और सविधान को कायम रखने वाली नई सरकार का गठन को आगे आयें। सभी दल स्वच्छ, ईमानदार और अच्छे किरदार के व्यक्तियों को ही टिकट दें। ताकी देश में अमन चैन भाईचारा जो क़ायम था वो बाकी रहे। बैठक को सम्बोधित करते हुये शादाब खाँ ने बताया कि गठबन्धन में होने वाली बैठकों में प्रत्याशी चयन के दौरान मशावर्ती काउंसिल को भी शामिल किया जाये अगर गठबन्धन में देश विरोधी, समाज विरोधी, मुस्लिम विरोधी, और बद किरदार गलत कृत्यों में लिप्त रहने वाले चाटुकार, बैईमान व बाहरी प्रत्याशियों का चयन किया गया तो चाहे वो किसी भी वर्ग से तालुक क्यों न रखता हो मशावर्ती काउंसिल उसका खुलकर विरोध करेगी मशावर्ती काउंसिल की अगली बैठक पूर्व कैबनेट मंत्री मो0 आज़म खाँ की मौजूदगी में वाराणसी में 6 जनवरी 2019 को राज्य अल्पसंख्यक आयोग के पूर्व अध्यक्ष जनाब शकील अहमद के आवास पर प्रातः 11ः00 बजे होगी। बैठक में हाजी आफाक़ अहमद खान ने 06 तारीख की बैठक के तैयारी के सम्बन्ध में जरूरी दिशा निर्देश दिये। बैठक में सभी सदस्यों ने अपने अपने मशवरे रखे जिसमें प्रमुख रूप से शहर के तमाम गणमान्य लोग मौजूद थे। जिनमें प्रमुख रूप से शोएब खान, शमशुल शेख, मेराज खान, शानू खान, असलम पठान, फरमान शेख, अरमान खान, राजा भाई, मौलाना वसी साहब शरीफुल हसन बिस्मिल्ला खान आदि मौजूद थे।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More