The news is by your side.

मेटलैब के टूलों में निरन्तर आ रहा बदलाव : निहाल अहमद

“रोल ऑफ मैट्रिक्स लेबोरटी इन एडवांस कम्युनिकेशन” कार्यशाला का समापन

अयोध्या। डॉ. राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के आई0 ई0 टी0 संस्थान में इलेक्ट्रॉनिक कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग विभाग एवं ए0आई0टी0 बैंगलोर के संयुक्त संयोजन में एक सप्ताह के फैकेल्टी डेवलपमेंट प्रोग्राम के तहत ”रोल ऑफ मैट्रिक्स लेबोरटी इन एडवांस कम्युनिकेशन“ विषय पर मंगलवार को कार्यशाला का समापन हुआ।
कार्यशाला के समापन पर संस्थान के निदेशक प्रो0 रमापति मिश्र ने प्रतिभागियों एवं संस्थान के शिक्षकों को सहभागिता प्रमाण-पत्र प्रदान करते हुए कहा कि संस्थान के उतरोत्तर प्रगति के लिए कड़े परिश्रम और टीमवर्क की भावना से कार्य करना होगा। टूल के माध्यम से संस्थान में अध्ययन-अध्यापन और शोध कार्यों में गतिशीलता मिलेगी। कार्यक्रम में इकरा साफ्टवेयर टेक्नोलाॅजी, कानपुर के विशेषज्ञ निहाल अहमद ने बताया कि मेटलैब के टूलों में निरन्तर बदलाव आ रहा है। इसके लिए आवश्यक है कि सैद्धांतिक अध्ययन के साथ-साथ लैब वर्क भी ध्यान दिया जाये। निहाल ने बताया कि तकनीकी विशेषज्ञता प्राप्त करने के लिए लैब वर्क पर एकाग्रचित होना पड़ेगा। टीक्यूआईपी के समन्वयक इं0 पारितोष त्रिपाठी ने कहा कि सप्ताह भर चली इस कार्यशाला से शैक्षिक अपगे्रडेशन का स्वस्थ्य वातावरण का निर्मित हुआ है इसे बनाये रखने की आवश्यकता है। विद्यार्थियों को बदलती तकनीक से परिचित कराने का दायित्व शिक्षकों का है। संस्थान के नोडल आॅफिसर इं0 विनीत सिंह ने कहा कि सूचना क्रांति के इस युग में सफलता उसी व्यक्ति के पास होगी जो सूचना से उच्चीकृत होगा। कार्यशाला के सचिव इं0 परिमल त्रिपाठी ने बताया कि तकनीकी के क्षेत्र में मेटलैब साफ्टवेयर का महत्वपूर्ण योगदान है। कार्यशाला के समन्वयक इं0 रमेश मिश्र ने अतिथियों एवं प्रतिभागियों के प्रति धन्यवाद ज्ञापित किया। इस अवसर पर डाॅ0 वन्दिता पाण्डेय, डाॅ0 सुधीर श्रीवास्तव, डाॅ0 प्रियंका श्रीवास्तव, इं0 शामभ्वी शुक्ला, इं0 जैनेन्द्र प्रताप, इं0 प्रवीण मिश्र, इं0 अवधेश यादव सहित अन्य शिक्षक एवं प्रतिभागी उपस्थित रहे।

Advertisements
Advertisements

Comments are closed.