The news is by your side.

खेल जगत के अमूल्य धरोहर थे बृजमोहन सिंह : आकाश गुप्त

-मेजर ध्यानचंद के बड़े पुत्र बृजमोहन सिंह के निधन से खिलाड़ियों में शोक

अयोध्या। हॉकी के जादूगर कहे जाने वाले मेजर ध्यानचंद के बड़े पुत्र बृज मोहन सिंह के आकस्मित मौत हो जाने से खेल जगत व खिलाड़ियों में शोक की लहर है। जिनके दिवंगत आत्मा की शान्ति के लिए मेजर ध्यानचंद खेल उत्थान समिति के बैनर तले उन्हें श्रद्धांजलि स्वरूप एक शोक सभा का आयोजन सादगी पूर्ण तरीके व कोविड नियमों के अंतर्गत संस्था अध्यक्ष आकाश गुप्त के आवास पर हुई जिसमें केवल संस्था के पदाधिकारी मौजूद रहे।

Advertisements

शोक सभा में स्व बृजमोहन सिंह के छायाचित्र पर श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुए मेजर ध्यानचंद खेल उत्थान समिति के अध्यक्ष आकाश गुप्त ने  खेल के प्रति उनके कृत्यों पर चर्चा करते हुए कहा कि मेजर ध्यानचंद दद्दा जी ने समूचे विश्व मे भारत को खेल के क्षेत्र में शीर्ष स्थान पर पहुचाकर भारत को गौरवान्वित किया था और उसी परम्परा को आगे ले जाने का कार्य उनके बड़े पुत्र बृजमोहन सिंह अजीवन करते रहें,जो मेजर ध्यानचंद के सात बेटों में सबसे बड़े थे। जो खेल सेवा करते करते राजस्थान स्पोर्ट्स काउंसिल में रिजनल स्पोर्ट्स ऑफिसर के पद से रिटायर हुए थे और अभी हाल में ही उन्होंने कोरोना पर विजय भी प्राप्त किया था और उन्होंने अपने पीछे पत्नी और दो बेटे और एक बेटी को छोड़ गए है। उनके निधन से राष्ट्र की अमूल्य क्षति हुई है जो खेल जगत के अमूल्य धरोहर थे, जिसका भरपाई होना संभव नही है।

खो खो के कोच व संस्था के महामंत्री रोहित जायसवाल ने कहा कि खेल के विकास में हम अपना योगदान दे यही उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि होगी ।हॉकी के पूर्व राष्ट्रीय खिलाड़ी अतुल वर्मा ने कहा कि जल्द ही संस्था द्वारा स्व बृजमोहन के स्मृति में उन्हें श्रद्धांजलि स्वरुप जल्द ही जिला चिकित्सालय परिसर में एक वृहद रक्तदान शिविर का आयोजन किया जाएगा। इस मौके पर संस्था उपाध्यक्ष प्रिन्स श्रीवास्तव, कोषाध्यक्ष मनीष विश्वकर्मा, सचिव विकास सोनकर,अधिवक्ता आलोक सिंह,संरक्षक राजेश चौबे, बीपीएड संघर्ष मोर्चा के जिला अध्यक्ष हौसिला प्रसाद यादव व अन्य पदाधिकारी मौजूद रहे।

Advertisements

Comments are closed.