The news is by your side.

भूगर्भ की जगह सरयू जल पर निर्भरता बढ़ाने पर हुआ मंथन

– जलनिगम व जलकल के अधिकारियों के साथ महापौर ने की बैठक

अयोध्या। जलनिगम व जलकल के अधिकारियों के साथ बैठक के उपरान्त महापौर महंत गिरीश पति त्रिपाठी ने बताया कि भूगर्भ जल की जगह अब सरयू जल पर निर्भरता होने का प्रयास किया जा रहा है। इसके लिए बने प्रोजेक्ट पर बैठक में विचार चर्चा की गई। जिस पर काम जल्द शुरु हो जाएगा। प्रोजेक्ट के शुरु होने के बाद उसे पूरा होने में करीब दो से ढाई साल लगेंगे।

Advertisements

उन्होंने बताया कि अमृत योजना-2 के तहत हर घर को 24 घंटे पानी देने का कार्य काफी तेजी से हो रहा है। महीने के अंत में इसकी शुरुआत कुछ वार्डो से की जाएगी। हर घर में नये कनेक्शन दिए जाएंगे। सीवर सफाई व नये सीवर पाइप लाइन बिछाई जाएंगे। चार ओवर हेड टैंक बनाए जा रहे हैं जिससे अयोध्या वासियों को 24 घंटे जल प्राप्त हो सकेगा। उन्होंने कहा कि जनता की हर अपेक्षा को पूरा करने के लिए नगर निगम प्रतिबद्ध है। बैठक में नल कनेक्शन व सीवरेज को लेकर जनता से मिली शिकायतें व सुझाव को लेकर अधिकारियों से वार्ता की गई।

उन्होंने कहा कि केन्द्र व प्रदेश सरकार ने अयोध्या को देश की विकसित नगरी में एक बनाने के लिए योजनाओं की श्रंखलाएं प्रदान की है। सरकार की मंशानुरुप कार्य करते हुए नगर निगम इसमें अपना योगदान दे रहा है। मौके पर अपर नगर आयुक्त वागीश शुक्ला, जल कल महाप्रबंधक महेश चंद्र आजाद, अधिशासी अभियंता आनंद दुबे, संचय शुक्ला, अधिशासी अभियंता जल कल अनूप सिंह व समस्त जेई जल कल व समस्त पार्षद गण मौजूद रहे।

Advertisements

Comments are closed.