भाजपाइयों का है दोहरा चरित्र : संजय सिंह

  • सुप्रीम कोर्ट में मोदी सरकार द्वारा झूठी जानकारी दिये जाने के मामले में संजय सिह पुनर्विचार याचिका करेंगे दाख़लि

  • मन्दिरों को तोड़े जाने के खिलाफ काशी के ललिता घाट पर ‘आप’ सांसद ने दिया धरना

ब्यूरो। सुप्रीम कोर्ट में मोदी सरकार द्वारा झूठी जानकारी दिये जाने के मामले में याचिकाकर्ता आप सांसद संजय सिह सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दाख़लि करेंगे। भाजपा सरकार द्वारा एतिहासिक मन्दिरों को तोड़े जाने के खिलाफ काशी के ललिता घाट पर रविवार को आम आदमी पार्टी के यूपी प्रभारी और राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने धरना दिया।
जनता को संबोधित करते हुए कहा कि अयोध्या में भाजपा सरकार कहती है रामलला हम आयेंगे मन्दिर वहीं बनायेंगे और काशी में भाजपाई कहते हैं भोले बाबा हम आयेंगे मंदिर सारे तुड़वायेंगे। उत्तर प्रदेश में गाय माता है, गाय के नाम पर इंसान को मार देते हैं लेकिन गोवा में कहते है कि यहाँ बीफ की कमी नहीं होने देंगे इनकी कथनी और करनी में जमीन आसमान का फर्क जनता अच्छे से समझ चुकी है इसीलियं चुनावी परिणामों में मुहं की खानी पड़ रही है।
सांसद सजंय सिंह ने कहा कि काशी विश्वनाथ कॉरीडोर के खिलाफ संसद में प्राइवेट मेम्बरशिप बिल लायेंगे। भाजपा सरकार एक के बाद एक धार्मिक नगरों के मन्दिरों को तोड़ने की कोशिश कर रही। काशी विश्वनाथ कॉरिडोर बनाने के नाम पर ऐतिहासिक मंदिरों को तोड़ रही है जिसको लेकर स्थानीय लोगों में भयंकर रोष व्याप्त है। धरना के बाद सांसद संजय सिंह केदार मठ के पीठाधीश शंकराचार्य स्वामी के शिष्य स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद से मुलाकात की और काशी विश्वनाथ कॉरीडोर के नाम पर मन्दिरों के तोड़े जाने के खिलाफ आन्दोलन को हर संभव मदद का भरोसा दिया।
आम आदमी पार्टी के प्रदेश मीडिया प्रभारी सभा जीत सिह ने बताया कि आप के इस आन्दोलन में अपना दल की नेता पल्लवी पटेल, सपा के पूर्व राज्यमंत्री सुरेन्द्र सिंह, कांग्रेस के पूर्व सांसद राजेश मिश्रा, पार्टी के पूर्वांचल प्रांत के अध्यक्ष संजीव सिंह, प्रदेश मीडिया प्रभारी सभाजीत सिंह, सीबाईएसएस अवध प्रान्त अध्यक्ष वंशराज दुबे, संजय पाण्डेय सहित कई स्थानीय पदाधिकारी शामिल हुए। उन्होंने कहा कि आन्दोलन में अन्य राजनीतिक दलों के नेताओं के शामिल होने से आन्दोलन और स्थानीय जनता को मजबूती मिलेगी।

इसे भी पढ़े   विकलांग दंपत्ति ने एसएसपी कार्यालय पर शुरू किया आमरण अनशन
1 Comment
  1. MKsOrb

    MKsOrb

    […]always a big fan of linking to bloggers that I adore but don’t get a whole lot of link appreciate from[…]

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More