नाकामियों को छुपाने के लिये भाजपा ने शुरू की पदयात्रा : तेजनारायण

 भाजपा छोड़कर आये युवाओं को दिलायी गयी सपा की सदस्यता

अयोध्या। सिर पर लाल टोपी व माला पहनाकर और हाथों में सपा का झण्डा थमाकर समाजवादी पार्टी की पूर्व राज्यमंत्री तेजनारायण पाण्डेय पवन ने सपा कार्यालय लोहिया भवन में सदस्यता ग्रहण करायी। इस मौके पर पूर्व राज्यमंत्री श्री पाण्डेय की अगुवाई में सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष व प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की नीतियों व सिद्धान्तों में विश्वास रखते हुए भाजपा छोड़ एक दर्जन से अधिक नौजवानों ने सपा का दामन थामा। पूर्व राज्यमंत्री श्री पाण्डेय ने कहा कि भाजपा द्वारा 01 दिसम्बर से 15 दिसम्बर तक निकली पदयात्रा पूरी तरह से ढोंग है। अपनी नाकामियों को छुपाने के लिये पदयात्रा शुरू की गयी है जिसको कहीं भी कोई भी जनसमर्थन नहीं मिल रहा है। उन्होंने कहा कि देश के किसान दिल्ली की सड़कों पर अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहा है लेकिन सरकार गूंगीं, बहरी बनकर बैठी है और किसानों की अनदेखी कर रही है। उन्होंने कहा कि देश के लोग अपने आपको ढगा-ढगा महसूस कर रहे हैं जिसका जवाब देश की जनता आगामी 2019 के लोकसभा चुनाव में देगी। सपा प्रवक्ता ओम प्रकाश ओमी ने बताया कि ग्राम जियनपुर के बूथ प्रभारी विजय भान यादव की मेहनत से कई युवाओं ने भाजपा छोड़कर सपा की सदस्यता ग्रहण की जिसमें मुख्य रूप से भाजपा युवा मोर्चा के मसौधा मण्डल मंत्री कृष्ण कुमार वर्मा, अमित वर्मा, सोनू वर्मा, मुकेश यादव, शहनवाज खान, रोहित राय वर्मा, अभिषेक वर्मा, राम विलास, मुकेश वर्मा, सोनू यादव, पप्पू वर्मा, मोहम्मद इलियास, मन्यून शर्मा, रवि यादव, अवनीश कुमार, सूबेदार यादव, अमरजीत यादव, दीनानाथ आदि प्रमुख रूप से शामिल हुए। प्रवक्ता ने बताया कि इस मौके पर पूर्व राज्यमंत्री श्री पाण्डेय व अयोध्या विधान सभा अध्यक्ष शिवबरन यादव पप्पू, रक्षाराम यादव, शमशेर यादव, बजरंगी मौर्या, प्यारेलाल पहलवान, मंजीत यादव, दीपक यादव, रवि मेहरोत्रा, अंसार अहमद बब्बन, महन्त अनिल मिश्रा, सन्टी तिवारी, मुकेश जायसवाल, रमेश यादव ने शामिल होने वाले नौजवानों को मिठाई खिलाकर बधाई दी।

इसे भी पढ़े  संयम, सजगता की कमी से सुरक्षा प्रणाली में सेंध लगा पाता है एचआईवी : डॉ. उपेन्द्रमणि

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More