The news is by your side.

अयोध्या परिक्रमा व पूर्णिमा स्नान मेले पर रहेगी एटीएस की नजर

-जिला प्रशासन व पुलिस प्रशासन के अधिकारियों ने किया परिक्रमा मार्ग का निरीक्षण

अयोध्या। रामनगरी अयोध्या में  11 नवंबर को आयोजित हुए दीपोत्सव की सफलता के बाद अब जिला प्रशासन की निगाहें 14 कोसी, पंच कोसी परिक्रमा व कार्तिक पूर्णिमा स्नान मेले पर लगी है। मेले को सकुशल सम्पन्न कराने के लिए जिला प्रशासन ने कसरत प्रारंभ कर दी है। अयोध्या की परिक्रमा व कार्तिक पूर्णिमा मेले में देश के कोने-कोने से लाखों श्रद्धालु अयोध्या पहुंचते हैं।
ऐसे में अयोध्या आने वाले श्रद्धालुओं की सुरक्षा व्यवस्था एक बड़ी चुनौती है। मेले को सकुशल सम्पन्न कराने के लिए जिला प्रशासन व पुलिस प्रशासन ने तैयारियां प्रारंभ कर दी है। इसी के परिपेक्ष में गुरुवार को   वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक राजकरन नय्यर, एडीएम सिटी सलिल पटेल, एसपी सिटी मधुबन सिंह व सिटी मजिस्ट्रेट अरविंद द्विवेदी ने संबंधित विभाग के अधिकारियों के साथ परिक्रमा पथ का निरीक्षण किया।परिक्रमा पथ पर मिली खामियों को दूर करने के लिए संबंधित विभागों के अधिकारियों को निर्देशित किया गया। कार्तिक पूर्णिमा स्नान मेला व परिक्रमा पर एटीएस की नजर रहेगी। सुरक्षा के लिहाज से जोन व सेक्टर में विभाजित किया गया।
मेला क्षेत्र, यातायात प्लान पर भी पुलिस की नजर रहेगी। जोन में अपर पुलिस अधीक्षक रैंक के अधिकारी,सेक्टर में पुलिस उपाधीक्षक रैंक के अधिकारी और विभिन्न पॉइंट पर इंस्पेक्टर ,सब इंस्पेक्टर, कांस्टेबल ,महिला कांस्टेबल व एलआईयू को तैनात करने की तैयारी की जा रही है।
जिलाधिकारी नितीश कुमार ने भी 14 कोसी एवं पंचकोसी मार्गो का संबंधित विभागों के आलाधिकारियों के साथ भ्रमण कर परिक्रमा की तैयारियों का जायजा लिया तथा समस्त तैयारियों को समय से पूर्ण कर परिक्रमार्थियों को बेहतर सुविधा उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने सेतु निगम, लोक निर्माण विभाग, जल निगम, अयोध्या विकास प्राधिकरण आदि सहित अन्य सम्बंधित विभागों के अधिकारियों को दोनों परिक्रमा मार्गो पर चल रहे कार्य स्थलों पर परिक्रमार्थियों की सुरक्षा के दृष्टिगत बैरीकेटिंग कराकर ही अपने कार्यो को संचालित करने के निर्देश दिये। इस दौरान जिलाधिकारी ने कहा कि दोनों परिक्रमाओं में लाखों श्रद्वालु पैदल नंगे पांव परिक्रमा करते है। इसके दृष्टिगत दोनों मार्गों पर पैदल सुचारू रूप से चलने योग्य बनाया जाए तथा परिक्रमार्थियों को परिक्रमा करने की बेहतर सुविधा उपलब्ध कराया जाये।
जिलाधिकारी ने नगर निगम कैंटोमेंट बोर्ड व अयोध्या विकास प्राधिकरण को परिक्रमा मार्ग के किनारे स्थित समस्त शौचालयों की नियमित सफाई सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। उन्होंने सम्पूर्ण मार्ग की सफाई व्यवस्था सुनिश्चित करने हेतु सम्बंधित विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया। जिलाधिकारी ने निरीक्षण के दौरान बड़ी बुआ मजार के पास निर्माणाधीन रेलवे ओवरब्रिज के प्रगति की भी जानकारी अधिशाषी अभियन्ता सेतु निगम से ली तथा दिसम्बर तक प्रत्येक दशा में रेलवे ओवरब्रिज के कार्य को पूर्ण कर क्रियाशील करने के निर्देश दिये। इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी नगर/मेलाधिकारी सलिल कुमार पटेल, एसपी सिटी श्री मधुबन सिंह, अधिशाषी अभियन्ता विद्युत, अधिशाषी अभियन्ता पीडब्लूडी, सीओ टै्रफिक सहित नगर निगम, सिंचाई सहित अन्य सम्बंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।

परिक्रमा मुहूर्त की तिथियां घोषित

-14 कोसी परिक्रमा 21 नवंबर की भोर  2.09  बजे से प्रारंभ होकर 21 नवंबर की रात्रि 11.38 बजे तक व पंचकोसी परिक्रमा 22 नवंबर को रात 9.25 बजे से 23 नवंबर की शाम 7.21 बजे तक आयोजित होगी । कार्तिक पूर्णिमा स्नान 26 नवंबर को दोपहर 3.11बजे से शुरू होकर 27 नवंबर को दोपहर 2.36 बजे पर समाप्त होगी। एसपी सिटी मधुबन सिंह ने बताया कि अधिकारियों के साथ बैठक कर सुरक्षा की तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है।
Advertisements

Comments are closed.