The news is by your side.

सांड के हमले से एक और किसान की हालत गंभीर

बीकापुर। सांड के हमले से एक और अधेड किसान की हालत गंभीर बन गई। घटना शनिवार की सुबह करीब 7 बजे कोतवाली क्षेत्र के मलेथूकनक गॉव में उस समय हुई जब गेहू की फसल को चर रहे सांड को भगाने के लिए अधेड किसान गया था। गंभीर रूप से घायल 55 वर्षीय सालिकराम पुत्र धनई मलेथूकनक गॉव का रहने वाला है। बताया गया कि सालिकराम के हरे भरे गेहूॅ की फसल को सांड चर खा रहे थे। जिसे देख सालिकराम से सहा नही गया और वह सांड को भगाने के लिए डण्डा लेकर हांका लगाने पहुंच गया। जिसे देख सांड भागने के बजाय घूमकर सांड सालिकराम पर हमलावर हो गया। जब तक लोग चींख पुकार सुनकर बचाव में दौडे तब तक सालिकराम सांड के हमले से लहुलुहान होकर धराशाही हो गया। परिजनो के सहयोग से घायल सालिकराम को बीकापुर सीएचसी लाया गया। जहां प्राथमिक उपचार के बाद हालत नाजुक होने से उस तत्काल जिला अस्पताल रिफर कर दिया गया। मालूम रहे कि बीकापुर क्षेत्र में सांडों और छुट्टा जानवरों के आतंक से किसान समुदाय कराह रहा है। इन छुट्टा जानवरों का झुण्ड किसानो की खून पसीने से तैयार की जाने वाली हरी भरी फसलो को चर खाकर नष्ट भ्रष्ट कर दे रहा है और जब किसान इन्हे भगाने के लिए हांका लगाने पहुचता है तो उन पर हमला बोलकर लहुलुहान कर देता है। सांडों के हमले से अब तक कोतवाली क्षेत्र के पातूपुर वहीउद्दीनपुर बल्लीपुर रामपुर परेई भैरवपुर टिकरा रजौरा सूल्हेपुर उमरनी पिपरी पकडीदुर्गादासपुर सहित तमाम गॉवों में दर्जनों लोग गंभीर रूप से घायल हो चुके है तथा वहीउद्दीनपुर रजौरा गॉव में 3 लोगो की मौत भी हो चुकी है। इन छुटटा जानवरों के कहर से किसान समुदाय बेहद नाराज और आक्रोशित है।

Advertisements
Advertisements

Comments are closed.