in

कृषि विवि में प्रवेश हेतु आये 20831 आवेदन

16, 17 व 18 मई को आयोजित होगी प्रवेश परीक्षा

अयोध्या। उत्तर प्रदेश संयुक्त कृषि एवं प्रौद्योगिक प्रवेश परीक्षा 2019 के लिए आवेदन पत्र भरने की अंतिम तिथि समाप्त होने के बाद स्नातक,परास्नातक एवं पीएचडी पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए कुल 20 हजार 8 सौ 31 आवेदन पत्र आये हैं। प्रवेश परीक्षा के आयोजक नरेंद्र देव कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय के कुलसचिव प्रो ए.के. गंगवार ने बताया कि प्रवेश परीक्षा आगामी 16, 17 व 18 मई 2019 को आयोजित की जाएगी। इस प्रवेश परीक्षा से प्रदेश के चार राज्य कृषि विश्वविद्यालयों क्रमशः नरेंद्र देव कृषि एवम प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय कुमारगंज अयोध्या, सरदार बल्लभ भाई पटेल कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय मेरठ, चंद्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय कानपुर व बांदा कृषि विश्वविद्यालय बांदा में संचालित विभिन्न पाठ्यक्रमों में प्रवेश लिए जाएंगे। इस वर्ष स्नातक पाठ्यक्रमों के लिए कुल 17हजार357, परास्नातक पाठ्यक्रमों के लिए 2744 तथा पी एच डी पाठ्यक्रमों के लिए 730 अभ्यर्थियों ने आवेदन प्रेषित किये है। जब कि चंद्रशेखर आजाद कृषि विश्वविद्यालय में संचालित एम बी ए पाठ्यक्रम के लिए 123 अभ्यर्थियों ने आवेदन किये हैं। प्रवेश परीक्षा 16 मई को स्नातक पाठ्यक्रम के लिए प्रदेश के 6 जनपदों वाराणसी,लखनऊ, अयोध्या,कानपुर,बांदा तथा मेरठ में परीक्षा केंद्रों पर आयोजित होगी। 17 मई को परास्नातक के लिए प्रवेश परीक्षा का आयोजन किया जाएगा जबकि 18 मई को पी एच डी की प्रवेश परीक्षा मेरठ, अयोद्या व कानपुर में आयोजित की जाएगी इसी दिन एम बी ए की प्रवेश परीक्षा लखनऊ में आयोजित होगी। यू पी कैटेट 2019 की प्रवेश परीक्षा के सफल आयोजन में फिलहाल लोकसभा चुनाव व इसमें विश्वविद्यालय कर्मियों की लगाई जा रही चुनाव ड्यूटी बड़ी बाधा बन कर सामने आ रही है। विडम्बना यह है कि चुनाव ड्यूटी में विश्वविद्यालय के शिक्षक व कर्मचारी शामिल हैं जिनके भरोसे परीक्षा केंद्रों के चयन, व्यवस्था, प्रश्नपत्रों की तैयारी जैसी गम्भीर जिम्मेदारियां सौंपी जानी हैं ऐसी परिस्थिति में नरेंद्र देव कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय के प्रशासन के लिए सफलता पूर्वक प्रवेश परीक्षा का आयोजन गम्भीर चुनौती बना हुआ है।

What do you think?

Written by Next Khabar Team

वादाखिलाफी कर भाजपा सरकार ने दिया धोखा: तेजनारायण

कुलपति ने पुस्तकालय डिजिटलाइजेशन का किया उद्घाटन