The news is by your side.

कुल्लू मनाली जा रहे एक ही परिवार के 11 सदस्य लापता

-हिमाचल प्रदेश के ब्यास नदी में आई बाढ़ एवं भूस्खलन के चलते बस सहित लापता होने की परिवारीजन जता रहे आशंका

मिल्कीपुर । कुमारगंज थाना क्षेत्र की नगर पंचायत अंतर्गत स्थित पिठला गांव से हिमाचल प्रदेश के कुल्लू मनाली के लिए निकले एक ही परिवार के 11 लोग अचानक लापता हो गए हैं। उनके सगे संबंधी अब उनकी खोजबीन में जुट गए हैं हालांकि किसी अनहोनी की आशंका से घबराए परिवारीजनों ने कुमारगंज पुलिस को मामले की जानकारी देते हुए कार्यवाही की गुहार की है। प्राप्त जानकारी के अनुसार पिठला गांव निवासी 62 वर्षीय अब्दुल मजीद अपने दामाद रहबर एवं अपने पूरे परिवार सहित हिमाचल प्रदेश के कुल्लू मनाली में रहकर मेहनत मजदूरी करके जीवन का गुजर-बसर कर रहे थे। इधर बीते जून माह में अब्दुल मजीद अपने परिवार के साथ अपने गांव पिठला आ गए थे।

Advertisements

बीते 8 जुलाई को अब्दुल मजीद अपने परिवार के साथ कुल्लू मनाली के लिए निकले थे। वह 9 जून को चंडीगढ़ बस अड्डे से 2 बजकर 40 मिनट पर रोडवेज की बस से कुल्लू मनाली के लिए निकले थे। मनाली में मौजूद मजीद का दामाद रहबर अपने साले ससुर और साली के मोबाइल पर बराबर संपर्क में था। रहबर ने मजीद के परिवारी जनों को बताया कि हमारी साली करीना से कई बार बात हुई थी और उसने बताया था कि 9/10 जुलाई की रात 12 बजे तक हम लोग मनाली बस अड्डा पहुंच जाएंगे, वही पर मिलना। मोबाइल पर हुई वार्ता के क्रम में जब रहबर मनाली बस अड्डे पर अपने ससुराली जनों का इंतजार करता रहा किंतु वह बस अड्डे तक नहीं पहुंचे। रात्रि 3 बजे के लगभग रहबर ने अपने ससुर के साथ मौजूद उनके बेटों एवं अन्य लोगों के पास मौजूद 5 मोबाइल फोन नंबरों पर संपर्क साधा लेकिन सब के सब मोबाइल बंद मिले।

इसे भी पढ़े  धारदार हथियार से प्रहार कर डीजे संचालक की हत्या

इसके बाद रहबर की बेचैनी बढ़ी और वह मनाली से गाड़ी लेकर खोज में निकल पड़ा जहां मंडी थाने से आगे उसे पुलिस कर्मियों ने रोक दिया किंतु वह जिस स्थान पर करीना ने फोन पर बताया था कि हम लोग बिलासपुर से आगे पहुंच चुके हैं वहां तक पैदल ही पहुंचा और आसपास लोगों से पूछताछ की। आसपास मौजूद लोगों ने बताया कि रात में व्यास नदी में बाढ़ आ गई थी और बाढ़ के पानी के चलते सड़क बह गई। सड़क पर खड़ी कई बसें और छोटे वाहन भी पानी के बहाव में बह गए हैं। इसके बाद वह सीधे मंडी थाने पहुंचा और हिमाचल प्रदेश पुलिस को सूचना दी जिस पर स्थानीय पुलिस ने उसे कार्यवाही का भरोसा दिलाया और कहा कि खोजबीन की जाएगी। अब्दुल मजीद के दामाद रहबर ने समूचे घटनाक्रम की जानकारी अब्दुल मजीद के पैतृक गांव पिठला में निवासरत उसके अन्य परिवारी जनों को।

सूचना मिलते ही गांव में सन्नाटा पसर गया और चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया।जानकारी के बाद अब्दुल मजीद के चचेरे भाई जुगल पुत्र प्यारे बसपा नेता भगवती सिंह के साथ कुमारगंज थाने पहुंचे और उन्होंने कुमारगंज पुलिस को घटना की सूचना दी। जिस पर प्रभारी निरीक्षक संजीव कुमार सिंह ने हिमाचल प्रदेश की पुलिस से संपर्क करते हुए मामले में कार्यवाही का भरोसा दिलाया है। एक ही परिवार के 11 लापता लोगों में अब्दुल मजीद पुत्र सद्दीक उम्र 62 वर्ष तथा नाजिमा पत्नी अब्दुल मजीद उम्र 60 वर्ष, बाहर पुत्र अब्दुल मजीद उम्र 42 वर्ष, परवीन पत्नी बहार उम्र 40 वर्ष इश्तिहार पुत्र अब्दुल मजीद उम्र 21 वर्ष, ओमाईसा सबना पत्नी इश्तहार 19 वर्ष, करीना पुत्री अब्दुल मजीद उम्र 18 वर्ष, वारिस अली पुत्र बहार उम्र 10 वर्ष, मौसम पुत्र बहार उम्र 6 वर्ष, अलमीरा पुत्री बहार 4 वर्ष एवं अब्दुल मजीद के रिश्तेदार एजाज अहमद निवासी लालगंज चौराहा कासिम अली का पुरवा तहसील मुसाफिरखाना जनपद अमेठी शामिल हैं।

Advertisements

Comments are closed.