विद्यालय समयावधि में मोबाइल व सोशल मीडिया से दूर रहे शिक्षक: अनुपमा जायसवाल

बेसिक शिक्षा मंत्री ने स्कूल चलो अभियान रैली को किया रवाना

अयोध्या। विद्यालय समयावधि में शिक्षक स्मार्ट फोन से जुड़े रहते हैं जिससे शिक्षण कार्य बाधित होता है। ऐसे में विद्यालय समसयावधि में शिक्षक स्मार्ट फोन और सोशल मीडिया से दूरी बनाये रखें जिससे शिक्षा का स्तर बनाये रखा जा सके। यह दिशा निर्देश स्कूल चलों अभियान के तहत आयोजित समारोह में बेसिक शिक्षा मंत्री अनुपमा जायसवाल ने शिक्षकों को दिया।
डॉ. राम मनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय प्रेक्षागृह के स्वामी विवेकानंद सभागार में स्कूल चलो अभियान 2019-20 एवम बालिका सुरक्षा जागरूकता अभियान समारोह के अंतर्गत कार्यक्रम में बेसिक शिक्षा मंत्री उत्तर प्रदेश श्रीमती अनुपमा जायसवाल उपस्थित रही। इस अवसर पर बेसिक शिक्षा मंत्री द्वारा दीप प्रज्वलित करके माँ सरस्वती की प्रतिमा पर माल्यापर्ण किया गया। कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय तारुन के बच्चो द्वारा वंदना की गई। विशिष्ट अतिथि विधायक मिल्कीपुर श्रीमती शोभा सिंह चैहान, मुख्य विकास अधिकारी अभिषेक आनंद,जिला ए डी बेसिक अधिकारी,एवम मुख्य अतिथि को जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी डॉ अमिता सिंह एवम सभी खंड शिक्षा अधिकारियों द्वारा बुके देकर एवम बैज लगाकर सम्मानित किया गया। मुख्य अतिथि द्वारा बच्चो का अन्नप्राशन, माँ समूह का अभिवादन करके प्रदेश सरकार की विभिन्न योजनाओं पर प्रकाश डाला गया। अपने सम्बोधन में मंत्री द्वारा बेसिक शिक्षा की उपलब्धियों के बारे में बताया गया,बच्चो से जुड़ी निःशुल्क शिक्षा,ड्रेस वितरण,समय से सभी जनपदों में निशुल्क पुस्तकों का वितरण,जूता मोजा वितरण संबंधी सभी योजनाओं के बारे में बताया गया। उन्होंने बताया कि इस सत्र में 1 जुलाई से वे लगातार कई जनपदों में स्कूल चलो अभियान की रैलियां कर रहीं है,सभी शिक्षकों को समय से विद्यालय पहुचने हेतु आह्वान किया। टीचर्स को विद्यालय समयावधि में मोबाइल फोन एवं सोशल मीडिया से दूर रहने की सलाह दी।’ ’रैली को हरी झंडी दिखाकर मंत्री द्वारा रवाना किया गया। इस अवसर पर सभी खंड शिक्षा अधिकारी,नगर शिक्षा अधिकारी,जिला समन्वयक समेकित शिक्षा शिवाकांत द्विवेदी, जिला समन्वयक कस्तूरबा स्नेहलता श्रीवास्तव,शिक्षक संघ के पदाधिकारी, शिक्षक,शिक्षिकायें, फिजियोथेरेपिस्ट डॉ विवेक श्रीवास्तव,समस्त विशेष शिक्षक,एवम मीडिया बन्धु,उपस्थित रहे। उत्कृष्ट नामांकन कराने वाले जनपद के 24 शिक्षकों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया।

Facebook Comments
इसे भी पढ़े  शिक्षा-रोजगार व अधिकार के लिए युवाओं को आना होगा आगे : शेरबहादुर