अयोध्या दीपोत्सव में 5001 एलईडी लाइट्स से बनाया जायेगा रिकार्ड

अयोध्या दीपोत्सव को लेकर हुई तैयारी बैठक, श्रीराम चिकित्सालय से नयाघाट तक सभी भवनों को एक कलर में करने का निर्देश

अयोध्या। कमिश्नर मनोज मिश्र ने आज सांसद लल्लू सिंह, जिलाधिकारी अनुज कुमार झा, महापौर ऋषिकेश उपाध्याय, विधायक वेद प्रकाश गुप्ता, रामचन्दर यादव के साथ आगामी 26 अक्टूबर 2019 को अयोध्या ंमें आयोजित दीपोत्सव पर्व 2019 को और भव्य व दिव्य तरीके से मनाने के आदेश सम्बन्धित अधिकारियों को दिए। उन्होनें कहा कि इस वर्ष हम तीसरा दीपोत्सव पर्व मना रहे है अतः इसकी ख्याति राष्ट्रीय व अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर और बेहतर ढं़ग से हो।
सांसद लल्लू सिंह के सुझाव पर कमिश्नर श्री मिश्र ने दीपोत्सव में किये जाने वाले सभी निर्माण कार्यो को एक अक्टूबर 2019 तक पूरा करने के निर्देश दिए। उन्होनें श्रीराम चिकित्सालय से नयाघाट तक सभी दुकानों व मकानों को एक ही कलर से रंगाने के सुझााव को अमल में लाने निर्देश दिए।
बैठक का संचालन करते हुये जिलाधिकारी श्री झा ने दीपोत्सव पर्व में साफ-सफाई की विशेष व्यवस्था करने, 11 सुन्दर व आर्कषक झाकियां भी निकालने, गत वर्ष की भांति दीपों के प्रज्जवलन, 05 देशों की अन्तर्राष्ट्रीय राम लीलाओं का मंचन, 5001 एलईडी लाइट्स से गिनीज रिकार्ड बनाया जाना, थाईलैण्ड के महाराज को मुख्य अतिथि के रूप में आमंत्रित करना, अयोध्या के प्रमुख धार्मिक स्थलों, मन्दिरों, आश्रमों व नदीघाट भी दीप प्रज्जवलित किया जाना, फाउण्टेन शो किया जाना, ड्रोन शो किया जाना, गुप्तार घाट से लेकर अयोध्या तक समस्त घाटों की सजावट, श्रीराम व सीता जी का हैलीकाॅप्टर से अवतरण, सरयू आरती का आयोजन, डिजिटल आतिशबाजी, सरयू नदी पर बने पुराने पुल का सौन्दर्यीकरण आदि विषयों पर कार्यवाही हेतु सम्बन्धित अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिये गये। बैठक मंे सीआरओ पीडी गुप्ता, उप निदेशक पर्यटन ब्रजपाल सिंह, उप निदेशक रामकथा संग्रहालय योगेश कुमार, अधिशाषी अभियन्ता विद्युत मनोज कुमार गुप्ता, अधिशाषी अभियन्ता पीडब्लूडी रघुकुल व अन्य सम्बन्धित अधिकारी व कार्यदायी संस्थाओं के अधिकारीगण उपस्थित थे।

इसे भी पढ़े  कुल्हाड़ी से हमलाकर चचेरे भाई ने किया मरणासन्न, लखनऊ रेफर

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More