The news is by your side.

युवाओं को कागज व मोल्डेड फाइबर के क्षेत्र में किया जायेगा प्रशिक्षित

-यश स्किल्स द्वारा प्रशिक्षण सत्र का हुआ शुभारम्भ

अयोध्या। जनपद के दर्शन नगर स्थित यश पैका लिमिटेड विगत 40 वर्षों से उत्तम निर्यात गुणवत्ता पूर्ण कागज बनाने वाली जिले की एकमात्र इकाई है।   गुणवत्ता पूर्ण कागज बनाकर, एशिया में अपने देश का मान बढ़ने वाली इस इकाई ने अब अपने प्रशिक्षण संस्थान, यश स्किल्स द्वारा युवाओं को कागज एवं मोल्डेड फाइबर के क्षेत्र में प्रशिक्षित करने का निर्णय लिया है।  लोगों को इस दिशा में प्रशिक्षण देने से  भारत में सभी पेपर मिलें निर्यात स्तरीय कागज बना सकेंगी और युवाओं के कागज उद्योगों में रोज़गार के अवसर भी प्रदान करेगी।

Advertisements

यश स्किल्स और सेंट्रल पल्प एंड पेपर रीसर्च इंस्टिट्यूट की सहभागिता से विश्व स्तरीय 2 नए कोर्स, पल्प एंड पेपर ऑपरेशन्स अवं फाइबर मोल्डेड प्रोडक्ट ऑपरेशन्स, का शुभारम्भ किया जा रहा है। कोर्स के माध्यम से 40  लाभार्थी प्रतिवर्ष प्रशिक्षण प्राप्त कर कागज उद्योग में रोज़गार प्राप्त करेंगे।  इस अवसर पर  मुख्य अतिथि उद्योग अवं वाणिज्य मंत्रालय, भारत सरकार  के वरिष्ठ निदेशक डॉ शांति स्वरुप गुप्ता ने दीप प्रज्ज्वलित क्र कार्यक्रम का शुभारम्भ किया।

इस कार्यक्रम में मुख्य रूप से विशिस्ट अतिथिगण सेंट्रल पल्प एंड पेपर रिसर्च इंस्टिट्यूट के निदेशक डॉ एम के गुप्ता रसायन वैज्ञानिक डॉ ए के दीक्षित, जिंगल बेल नर्सरी स्कूल सोसाइटी की निदेशक श्रीमती मंजुला झुनझुनवाला एवं यश पैका के प्रबंध निदेशक जगदीप हीरा मौजूद रहे। मुख्य अतिथि डॉ शांति स्वरुप गुप्ता ने नए पाठ्यक्रमों का उद्घाटन करते हुए कहा कि पल्प एंड पेपर ऑपरेशन्स कोर्स भारत का पहला अवं  फाइबर मोल्डेड प्रोडक्ट ऑपरेशन्स कोर्स विश्व का पहला एकमत्र अद्वितीय पाठ्यक्रम होगा जो यश स्किल्स, अयोध्या द्वारा संचालित किया जायेगा।

इसे भी पढ़े  भाकपा प्रत्याशी ने 80 किमी जुलूस निकालकर किया शक्ति प्रदर्शन

कार्यक्रम के विशिस्ट अतिथि सेंट्रल पल्प एंड पेपर रिसर्च इंस्टिट्यूट के निदेशक डॉ एम के गुप्ता ने कहा कि पल्प एंड पेपर उद्योगों के लिए यह एक सराहनीय पहल है जिससे उद्योगों को विश्व स्तरीय कागज की गुणवत्ताएं मिलने में सहायक होगी।  यश पैका के प्रबंध निदेशक  जगदीप हीरा ने कहा कि यश पैका सदैव अयोध्या जिले के युवाओं को गति देने में विश्वास रखती है और उन्हें देश विदेश में रोजगार के अवसर प्रदान करने लिए ही यश स्किल्स कि स्थापना जून 2021 में कि गयी।

कार्यक्रम के संचालक यश स्किल्स के ऑपरेशन हेड रमेश कोटी द्वारा बताया गया कि इस पाठ्क्रम का प्रशिक्षण शुल्क प्रति छात्र बीस हजार प्रतिवर्ष  होगा और इसमें प्रवेश प्राप्त करने के लिए लाभार्थियों को प्रवेश परीक्षा में कम से कम 34 प्रतिशत अंक प्राप्त करना अनिवार्य होगा। कार्यक्रम के उदघाटन सत्र में यश पैका के ओप्रशन हेड परितोष राय, प्रोजेक्ट हेड नरेंद्र अग्रवाल, कमर्शिअल हेड मनोज मौर्या , लायसन हेड गौतम घोष, सेल्स हेड शैलेश सिंह, यश पैका के कर्मियों समेत दो सौ से अधिक छात्र -छात्रएं मौजूद रहे।

Advertisements

Comments are closed.