in

सामुदायिक सहभागिता से अपने परिवेश को बनाये युवा: आशुतोष

दो दिवसीय कार्यशाला का हुुआ आयोजन

अयोध्या। अवध पीपुल्स फोरम और भारतीय प्रतिष्ठान ने संयुक्त रूप से नागरिक अधिकारों, कर्तव्य और सतत विकास लक्ष्य पर दो दिवसीय कार्यशाला का आयोजन झुनझुनवाला पीजी कालेज में किया। नागरिक अधिकारों, कर्तव्य सतत विकास लक्ष्यों के दैनिक जीवन में प्रयोग एवं जमीनी जुड़ाव पर गहराई से युवाओं में समझ बनाने की कोशिश की गई। कार्यशाला का उद्घाटन झुनझुनवाला पॉलिटेक्निक के निदेशक आशुतोष त्रिपाठी ने करते हुए कहा कि इस कार्यशाला का उद्देश्य युवाओं को अपने परिवेश से जुड़कर सामाजिक विकास के कार्य में अपनी समझ को बनाना है। आप स्वयं ही अपने परिवेश को बनाने का काम कर सकते है। लोग शिकायत करते है कि ये कमी है, वो कमी है। हमको कमियाँ गिनाने की बजाय इन कमियों को कैसे दूर किया जाये इस विषय पर विमर्श करते हुए काम करना चाहिए। आप लोग अपने अनुभव और सीख को एक दूसरे से साझा करते हुए आगामी कार्य योजना कार्यशाला में बनाए। कार्यशाला जिसमें युवाओं ने विभिन्न गतिविधियों द्वारा संवैधानिक अधिकार, कर्तव्य और एस डी जी पर अपनी मजबूत समझ बनाई। युवाओं ने समाज में अपनी भूमिका और समाज के समावेशी विकास में अपने योगदान की समीक्षा करते हुए पारस्परिक चर्चा में हिस्सेदारी और कार्यशाला में मौजूद सभी युवाओं ने विकास के 17 लक्ष्यों के माध्यम से समाज के समावेशी विकास हेतु 15 दिवसीय एक टास्क का चुनाव किया इस टास्क में शिक्षा, स्वास्थ्य, पर्यावरण, शून्य भुख्मारी, शून्य गरीबी, जलीय जीवों की सुरक्षा, थलीय जीवों की सुरक्षा जैसे मुद्दों पर अपने टास्क चुने और इन टास्क के द्वारा समाज में समावेशी विकास में अपना योगदान सुनिश्चित किया। कार्यशाला का संचालन करते हुए आशीष कुमार ने कहा कि हम लगातार अपने परिवेश में युवाओं को जोड़कर काम करने के लिए जागरूक किया है। इसके लिए लगभग 30 युवाओं के साथ नियमित काम करने की योजना है। इस कार्यशाला में विभिन्न कालेजों के विद्यार्थी और अवध पीपुल्स फोरम के साथी अफाक उल्लाह, गुफरान सिद्दीकी, सिम्मी, मोहम्मद अली, शिवांशु मिश्र, सौरभ दुबे, नीलम कुमार, श्रुति सोनकर, हिमानी, आंशिक, आशीष भारती, मोनीस फैज, आदि उपस्थित रहे।

What do you think?

Written by Next Khabar Team

होली त्यौहार को भाईचारे के साथ मनाने का लिया संकल्प

चौकी में कप्तान की नहीं हमारी चलती है…