योगी राज में प्रदेश की कानून व्यवस्था ध्वस्त : करन त्रिपाठी

आगरा में छात्रा को जिंदा जला कर मारने पर कांग्रेसियों ने जताया शोक

अयोध्या। महानगर युवक कांग्रेस कमेटी की बैठक कमला नेहरू भवन कांग्रेस कार्यालय में अध्यक्ष करन त्रिपाठी की अध्यक्षता में संपन्न हुई। बैठक में आगरा में छात्रा को जिंदा जला कर मारने पर गहरा शोक प्रकट करते हुए अध्यक्ष करन त्रिपाठी ने कहा कि बुलंदशहर में हाल की भीड़ हिंसा की घटना में पुलिस अफसर की मौत के बाद आगरा की ताजा दर्दनाक घटना से लोगों को यह सोचने पर मजबूर कर दिया है कि प्रदेश में कानून व्यवस्था पूरी तरह से ध्वस्त हो चुकी है ।
प्रदेश में हर व्यक्ति अपने आप को असुरक्षित महसूस कर रहा है विधानसभा में सरकार से की ओर से आए बयानों से यह प्रतीत होता है कि अपराध नियंत्रण एवं कानून व्यवस्था भाजपा सरकार की प्राथमिकताओं में कहीं नहीं है। हाल में ही जनपद अयोध्या फैजाबाद के नियावां के व्यवसायी प्रेम मोदनवाल की बेटी को गायब हुए दो माह से अधिक का समय बीतने के बाद भी अभी तक प्रशासन ने बेटी का पता नही लगा पाई है। ऐसे में यह बात बिल्कुल तय हो चुकी है कि प्रदेश में भाजपा सरकार के राज में कानून व्यवस्था के मामले में वह पूरी तरह से विफल रही है।
इस अवसर पर उत्तर प्रदेश कांग्रेस के सचिव राजेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि पूरे प्रदेश में जिस प्रकार से अपराधी बेखौफ हैं उससे लगता है कि प्रदेश में भाजपा सरकार कानून व्यवस्था के मामले में पूरी तरह से असफल है। श्री राजेन्द्र प्रताप सिंह ने कहा युवा कांग्रेस के समस्त कार्यकर्ता जन जन तक भाजपा के कुशासन की पोल खोलने का काम करें। उक्त बैठक में एआईसीसी सदस्य उग्रसेन मिश्रा ने आगरा की घटना पर दुख व्यक्त करते हुए छात्रा के परिजनों को 50 लाख की सहायता देने की मांग की और कहा कि शासन प्रशासन को ऐसे मामलों में कठोर कदम उठाना चाहिए जिससे कि भविष्य में इस प्रकार की घटना की पुनरावृत्ति ना हो । बैठक में अवध किशोर तिवारी , रणजीत सिंह ,शाहनवाज खान , अनस मुमताज ,शिवम विश्वकर्मा कैफी उमर, शाहरुख काजी, जिला महासचिव सुनील कृष्ण गौतम ,आरिफआब्दी, फरीद सलमानी एवं महानगर युवक कांग्रेस कमेटी अयोध्या के समस्त पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता मौजूद रहे।

इसे भी पढ़े  UP पुलिस ने अपनी पहचान, झंडे को किया सैलूट

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More