योगी सरकार में सुरक्षित नहीं है महिलाएं:लीलावती

फैजाबाद। प्रदेश की भाजपा सरकार के 16 महीनों में यदि कोई सर्वाधिक पीड़ित, शोषित और अपमानित हुआ है तो वह प्रदेश की महिलाएं तथा मासूम बच्चियाॅं हैं। यह आरोप विधान परिषद सदस्य लीलावती कुशवाहा ने लगाया। श्रीमती कुशवाहा जनौरा गांव में आयोजित महिलाओं की बैठक को सम्बोधित कर रही थीं। उन्होंने कहा कि महिलाओं व मासूम बच्चियों की इज्जत और सम्मान भाजपा की योगी सरकार में सुरक्षित नहीं है। शिशु व महिला संरक्षण गृहों और महिला प्रशिक्षण केन्द्रों में यौन शोषण की घटनायें पूरे देश के लिए अति शर्म व चिन्ता की बात है। बिहार के मुजफ्फरपुर सेल्टर होम व देवरिया नारी संरक्षण गृह की घटनाओं ने पूरे देश व प्रदेश को शर्मसार किया है। उन्होंने कहा कि देश व प्रदेश में जुमलेबाजों की सरकार चल रही है। केन्द्र व राज्य सरकार की स्वास्थ्य योजनाओं का लाभ गरीबों को नहीं मिल पा रहा है। केन्द्र व राज्य सरकार स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार के लिये भले ही करोड़ों रूपये खर्च कर रही हैं लेकिन आम आदमी को कोई भी लाभ नहीं हो रहा है। उन्होंने कहा कि एम्बुलेंसों में तेल नहीं है। एम्बुलेंस खड़ी हुई हैं, मरीजों के तीमरदार मरीजों को मोटरसाइकिल, रिक्शा और ठेलों पर अस्पताल पहॅंुचा रहे हैं। उन्होंने कहा कि एम्बुलेंस सेवा 108 और 102 का लाभ मरीजों को नहीं मिल रहा है। अस्पतालों में दवाईयाॅं नहीं हैं। उन्होंने कहा कि जुलाई माह बीत चुका है। अभी तक माध्यमिक व प्राथमिक विद्यालयों में बच्चों को बस्ते, जूता-मोजा नहीं मिले हैं। प्रदेश की भाजपा सरकार फेल हो चुकी है। केवल जुमलेबाजी ही हो रही है। सपा प्रवक्ता ओम प्रकाश ओमी ने बताया कि श्रीमती कुशवाहा जनौरा गांव में पहॅुंचकर उन महिलाओं से मुलाकात की, जिनको अखिलेश सरकार में समाजवादी महिला पेंशन पांच सौ रूपये प्रतिमाह मिलता था जिसे प्रदेश की योगी सरकार ने बन्द कर दिया है। प्रवक्ता ने बताया कि श्रीमती कुशवाहा ने महिलाओं को आश्वासन दिया कि सपा सरकार बनने पर पेंशन बहाल होगी और पांच सौ रूपये से बढ़ाकर दो हजार रूपये प्रतिमाह मिलेगी।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More