The news is by your side.

महिलाओं के दल ने सीखा मोटे अनाज का गुण, बनाए रागी के इडली व बाजरे का लड्डू

-कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही  ने पौधा देकर महिलाओं को किया सम्मानित, मोटे अनाज से लाभ के दिए टिप्स


कुमारगंज । आचार्य नरेंद्र देव कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय के खाद्य एवं पोषण विभाग में मोटे अनाज पर आधारित खाद्य पदार्थों एवं उद्यमिता पर एक दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का समापन हुआ। देवरिया जनपद के पत्थर देवा से आईं 60 सदस्यीय महिलाओं की टीम कृषि विवि पहुंची जहां मोटे अनाज से निर्मित खाद्य पदार्थों को बनाने के गुण सीखे और विभिन्न परिक्षेत्रों का भ्रमण किया।

Advertisements

इस मौके पर कृषि, कृषि शिक्षा एवं अनुसंधान मंत्री सूर्य प्रताप शाही भी मौजूद रहे। मंत्री एवं कुलपति डा. बिजेंद्र सिंह ने विश्वविद्यालय भ्रमण पर आईं सभी महिलाओं को अंगवस्त्र एवं सहजन का पौधा देकर सम्मानित किया तथा मंत्री शाही व कुलपति ने परिसर स्थित अमृत वाटिका में पौधरोपण किया।

कार्यक्रम को बतौर मुख्यअतिथि संबोधित करते हुए कृषि मंत्री शाही ने कहा कि मोटा अनाज शरीर के लिए बहुत फायदेमंद है। मोटे अनाज में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा बहुत कम होती है और यह इंसान को हाई बीपी, दिल की बीमारी और डायबिटीज जैसी कई बीमारियों से भी बचाता है। कुलपति डा. बिजेंद्र सिंह ने बताया कि पौष्टिकता से भरपूर इन अनाजों का कम लागत पर उत्पादन कर आय को दोगुना किया जा सकता है।

इस दौरान देवरिया से विश्वविद्यालय पहुंची 60 महिलाओं की दल को डा. साधना सिंह ने बाजरे का लड्डू, रागी का इडली, सांवां की चकोई आदि को बनाने के गुण सिखाए। महिलाओं के दल ने पशुलपालन, मत्स्य, डेयरी, प्राकृतिक प्रक्षेत्र आदि का भ्रमण कर कृषि की तकीनीकों को जाना।

इसे भी पढ़े  अवध विवि के छात्रों ने प्रभु श्रीराम के सूर्य अभिषेक की तर्ज पर बनाया मॉडल

इस मौके पर खाद्य एवं पोषण विभाग की विभागाध्यक्ष डा. साधना सिंह द्वारा मोटे अनाज के क्षेत्र में किए जा रहे उत्कृष्ट कार्यों की कृषि मंत्री शाही ने सराहना की एवं उनके साथ-साथ सहकर्मी डा. प्रज्ञा पांडेय, डा. श्वेता चौधरी, शोभाराम को सम्मानित किया। इस मौके पर कुलपति के सचिव डा. जसवंत सिंह सहित समस्त अधिष्ठाता, निदेशक, वैज्ञानिक मौजूद रहे।

Advertisements

Comments are closed.