in

संत समाज व अवध विश्वविद्यालय सेना के साथ

सेना की मदद के लिए चलाया जायेगा जन जागरण अभियान

अयोध्या। डॉ. राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो0 मनोज दीक्षित व तिवारी मंदिर के मंहत गिरीशपति त्रिपाठी के नेतृत्व मे सन्तों की संयुक्त बैठक तिवारी मंदिर मे आहूत की गई। इस बैठक मे भारतीय वायुसेना द्वारा पुलवामा हमले के जवाब में आज तड़के तीन बजे की गई कार्यवाही को लेकर चर्चा की गई। इस बैठक मे संतो के नेतृत्व मे निर्णय लिया गया की सेना हमारी अकेली नही है पूरा संत समाज और अवध विश्वविद्यालय उनके साथ है। अयोध्या के संत, महंत और दर्शनार्थियों के बीच जन जागरण का अभियान चलाया जायेगा और सेना की हर संभव मदद की जायेगी। बैठक मे कुलपति प्रो0 मनोज दीक्षित ने कहा कि आतंकवादी घटना के पीछे कट्टर इस्लामिक सोच होती है वे जहां भी हमला करते हैं वहां विध्वंस की बात करते हैं। इसी परिप्रेक्ष्य में यह बैठक आहूत की गई कि हम सेना की सहायता के लिए संकल्पबद्ध है। आदि नगरी अयोध्या प्राचीनतम नगर है जहां का समाज एक स्वस्थ सोच रखता है और हम नैतिक आर्थिक एवं सामाजिक हर तरह से सेना का समर्थन करते हैं। यह समर्थन मंदिर मठ से लेकर सेना तक पहुंचेगा।
इसी क्रम में तिवारी मंदिर के महंत गिरीश पति त्रिपाठी ने 21 हजार की धनराशि, पुरातन छात्रसभा ने 51 हजार की धनराशि सेना के लिए दी है। साथ ही यह निर्णय भी लिया गया कि विश्वविद्यालय परिवार भी अपने 1 दिन का वेतन सेना को दान करेगा। तिवारी मंदिर के महंत गिरीश त्रिपाठी ने कहा कि इस लड़ाई में हम पीछे क्यों रहें? आने वाले समय में हम हर संभव मदद करेंगे और संत समुदाय भी सेना के साथ खड़ा है। भारतीय सेना का उत्साह बढ़ाने के लिए संत समाज प्रयासरत है। इस मौके पर आचार्य रत्नेश ने कहा कि हमारे यहां कोई भी शुभ कार्य ब्रह्म मुहूर्त में होता है और हमारी सेना ने ब्रह्म मुहूर्त में ही यह कार्यवाही की है। हमारे देश पर जो भी आंख उठाएगा उसके विरूद्ध कार्यवाही अवश्य होगी। इस मौके पर विश्वविद्यालय कार्यपरिषद सदस्य ओम प्रकाश सिंह, अशोक टाटमबरी, प्रो0 अनूप प्रो0 सुंदर लाल त्रिपाठी, प्रो0 शैलेंद्र वर्मा, आशीष मिश्र सहित तमाम संत, महंत उपस्थित रहे।

What do you think?

Written by Next Khabar Team

जल निगम कर्मचारियों का धरना दूसरे दिन भी रहा जारी

आम आदमी को मिला भाजपा सरकार की योजनाओं का लाभ : लल्लू सिंह